सुबह जल्दी उठें चाहें देर से, ऐसी होनी चाहिए दिन की शुरुआत

बचपन में हर किसी को यह पाठ सिखाया जाता है कि रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने से व्यक्ति स्वस्थ, धनवान और बुद्धिमान बनता है। इस मंत्र को स्कूल, कॉलेज में भी दोहराते रहते हैं लेकिन जैसे ही पेशेवर या व्यावसायिक जिंदगी में कदम रखते हैं, महसूस होता है कि यह मंत्र अब काम नहीं करता है। फिर सर्दियों के मौसम में अक्सर हमारा मन देर तक सोने का करता है। नौ से पांच की नौकरी में इस मंत्र को अपनाना लोगों के लिए कठिन हो जाता है, लेकिन उस योग, वर्कआउट या हेल्दी नाश्ते के रूटिन का क्या जिसे आदर्श सुबह के लिए बहुत जरूरी बताया जाता है? एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इसका हल भी है। यानी चाहे कोई सुबह जल्दी उठता हो या देरी से, उसके समय के अनुसार दिन की शुरुआत का प्लान बनाया जाता है। इस प्लान में खानपान और व्यायाम शामिल है।
भले ही थोड़ा, लेकिन दौडि़ए जरूर, होंगे ये बड़े फायदे
सबसे जरूरी नींद पूरी करना-कोई सुबह कभी भी उठे, महत्वपूर्ण है कि क्या उसकी नींद पूरी हो रही है।़े एम्स के डॉ. केएम नाधीर के अनुसार, नींद की कमी पूरी सेहत पर असर डालती है। इसका असर न केवल खानपान बल्कि पूरी दिनचर्या पर पड़ता है।दिन की शुरुआत देरी से करने का मतलब यह नहीं कि सेहतमंद रहने का मौका हाथ से चला गया। आज दुनिया में लोग भाग-दौड़ की जिंदगी जीते हैं और कहा नहीं जा सकता कि फलां समय ही वर्कआउट का सही समय है क्योंकि आपके लिए जो सही समय है, जरूरी नहीं कि वह किसी और के लिए भी सही हो। जल्दी या देरी से उठने के हिसाब से लोगों को दो हिस्सों में बांटा जा सकता है। पहला – सुबह 7 बजे से पहले उठने वाले और दूसरा – 9 बजे तक उठने वाले।
जल्दी उठने वालों के लिए
खानपान- सुबह की शुरुआत एक गिलास पानी से करें। यह शरीर के तंत्र को साफ करता है, जहरीले पदार्थों को शरीर से निकालता है और मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है। उसके बाद गुनगुना पानी या नीबू पानी लें। इसके अलावा गुनगुने पानी के साथ कड़ी पत्ता लेने से भी शरीर से विषाक्त पदार्थ निकल जाते हैं। सुबह-सुबह एक या दो खजूर खाना अच्छा होता है। रात से खाली रहे पेट के लिए यह बेहतर होता है। यह दिनभऱ के खाने के लिए पेट को तैयार करता है।नाश्ते में कुछ फल शामिल होने चाहिए। अगर मांसाहारी हैं तो अंडा खाएं। शाकाहारी हैं तो पनीर, टोफू खाएं या प्रोटिन शेक पीएं।फिटनेस-थोड़ी देर के लिए धूप में बैठकर विटामिन डी लें।ह्रदय सहित कुल सेहत को लाभ पहुंचाने वाली कार्डियोवस्कुसर एक्सरसाइज जैसे वॉकिंग, जॉगिंग या साइकलिंग करें।पुश अप्स, पुल अप्स और स्क्वेट्स करने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं।
देर से उठने वालों के लिए
खानपान-सुबह उठते ही पहले एक गिलास सादा पानी पिएं। अगर आपके पास नीबू पानी या कड़ी पत्ता पानी पीने का समय नहीं है तो एक कप ग्रीन टी पिएं। इमसें एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो कि शरीर के लिए अच्छे हैं और चर्बी को पिघलाने का काम करते हैं।
कुछ खजूर खाएं और कुछ बादाम या अखरोट।
नाश्ता जरूर करें।
अगर आपके पास सुबह फल या प्रोटीन खाने का समय नहीं है तो आप दिन के समय स्नैक्स में फ्रूट्स या नट्स ले सकते हैं।
फिटनेस-10-15 मिनट वर्कआउट करें।कार्डियोवस्क्यूलर एक्सरसाइज जैसे रस्सी कूदना, जॉगिंग, कुछ स्क्वेट्स, पुशअप्स और प्लैंक्स करें। कुछ वेट्स भी ले सकते हैं।
बच्चों के लिए सुबह जल्दी उठना अच्छा-बच्चों के लिए तो सुबह जल्दी उठना ही फायदेमंद है। इसका उनकी पढ़ाई पर भी सकारात्मक असर पड़ता है। भारत में तो कहा ही जाता है कि सुबह जल्दी उठ कर की गई पढ़ाई हमेशा याद रहती है, वहीं अब अमेरिका और यूरोप में किए गए अध्ययन में भी साफ हुआ है कि जो बच्चे रात के बजाए सुबह उठकर पढ़ाई करते हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *