धूम्रपान से आंत में सूजन से संबंधित बीमारी उत्पन्न हो सकती है- अध्ययन

 

लोगों के स्वास्थ्य पर धूम्रपान के कई दुष्प्रभावों से तो लगभग सभी अवगत हैं लेकिन वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि सिगरेट पीने से आंतों को क्षति पहुंच सकती है और कोलाइटिस का खतरा बढऩे की आशंका है। अनुसंधानकर्ताओं ने सिगरेट के धुएं के सम्पर्क में आने वाले चूहे पर इस प्रभाव के लिए जिम्मेदार खास रक्त कोशिका एवं प्रोटीन को चिन्हित किया है। ‘फ्रंटियर्स इन इम्युनोलॉजी जर्नल में प्रकाशित अध्ययन से वैज्ञानिकों को आंत के सूजन से जुड़ी बीमारियों के उपचार में मदद मिल सकती है और इससे कोलाइटिस के बढ़ते खतरे को लेकर लोगों को जागरूक किया जा सकता है। पूर्व के अध्ययन में यह कहा गया था कि धूम्रपान के कारण फेंफड़ों में सूजन से आंत पर प्रभाव पड़ सकता है। दक्षिण कोरिया के क्यूंग ही विश्वविद्यालय के ह्युंसू बे ने कहा, ”फेंफड़े के वायु तंत्र और आंत प्रणली में कई समानताएं हैं। बे ने कहा, दिलचस्प है कि पारंपरिक कोरियाई चिकित्सा में फेंफड़ा और बड़ी आंत के बीच संबंध पर जोर दिया गया है।

सीनियर सिटिजन सावधान: हाई थायराइड हार्मोन का स्तर बढ़ा सकता है दिल की बीमारी: बुजुर्गों के लिए थायराइड का उच्च स्तर दिल की बीमारियां जैसे आर्टरी की बीमारियां बढ़ा सकता है। इसका खुलासा हुआ है एक नई रिसर्च में। फ्री थॉयराक्सिन जिसे स्नञ्ज4 कहते हैं एक हार्मोन है जिसका उत्पादन थायराइड ग्रंथी से होता है। यह हार्मोन उस दर को नियंत्रित करता है जिससे बॉडी ऊर्जा लेती है। पहले की रिसर्च में बताया गया है कि इस हार्मोन का संबंध अनियमित दिल की धड़कनों की तरफ इशारा करता है। रिसर्च में यह बात सामने आई है कि बुजुर्ग जिनमें स्नञ्ज4 हार्मोन ज्यादा होता है उनमें कोरोनरी आर्टरी कैलसिफिकेशन स्कोर का स्तर दोगुना होने का खतरा होता है।कोरोनरी आर्टरी कैलसिफिकेशन स्कोर atherosclerosis  की तरफ इशारा करता है जो आर्टरीज के मोटा होना और उनमें वसा जमा होने की प्रक्रिया है। नीदरलैंड की इरासमस यूनिवर्सिटी की अरजोला बानो कहा कहना है कि थायराइड का फंक्शन ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों के खतरे को बढ़ाता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *