अफीम तस्करों को पांच-पांच वर्ष कठोर कारावास

श्रीगंगानगर, 7 जून (का.सं.)। अफीम की तस्करी करने के जुर्म में अदालत ने दो व्यक्तियों को पांच-पांच वर्ष कठोर कारावास की सजा सुनाई है और 50-50 हजार का अर्थदंड लगाया है। हनुमानगढ़ में एनडीपीएस एक्ट मामलों की विशिष्ट अदालत में विशेष लोक अभियोजक मदन पारीक ने गुरुवार को बताया कि न्यायाधीश ने इन दोनों मुल्जिमों को सजा भुगतने के लिए जेल में भेज दिया है, जोकि जमानत पर थे। प्रकरण के मुताबिक हनुमानगढ़ जंक्शन थाना पुलिस ने 9 जून 2012 को थाना क्षेत्र में संदेह के आधार पर दो व्यक्तियों को काबू किया, जिनके कब्जे से क्रमश: एक किलो 50 ग्राम और एक किलो 40 ग्राम अफीम बरामद हुई। तफ्तीश में यह दोनों अफीम तस्करी के मुल्जिम साबित पाये गये। इनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की विभिन्न धाराओं में चालान पेश किया गया।गुरुवार को न्यायाधीश ने निर्णय देते हुए दोनों तस्करों- दलीप पुत्र गोपीराम, सुरेश पुत्र कृष्णलाल निवासी गोलूवाला सिहागान को दोषी करार दिया। एडवोकेट मदन पारीक ने बताया कि इनको पांच-पांच वर्ष कठोर कारवास की सजा सुनाते हुए 50-50 हजार का अर्थदंड लगाया। अर्थदंड अदा नहीं करने पर छह-छह माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। केस के विचाराधीन रहने के दौरान इनकी जमानत हो गई थी। आज फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश ने इनको जमानत मुचलके निरस्त करते हुए जेल भेज दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *