सामाजिक सरोकार दे रहे सुकून

जयपुर, 15 अक्टूबर (कासं)। सामाजिक सरोकारों के निर्वहन और जरूरतमन्दों की भलाई के लिए राज्य सरकार पूरी संवेदनशीलता के साथ दायित्व निभा रही है। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे द्वारा आम जन के कल्याण और जरूरतमन्दों का जीवनस्तर सुधारने की दिशा में संचालित योजनाएँ और कार्यक्रम लोक जीवन में सुकूनदायी बदलाव ला रहे हैं।
लोक जीवन में आ रही खुशहाली : सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की ओर से प्रदेश में हर तरह के जरूरतमन्दों के लिए कई गतिविधियों का संचालन किया जाकर बड़ी संख्या में लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। लोक जीवन में सामाजिक उत्थान तथा अभावों मेें भाव भरने की दिशा में राज्य सरकार बहुआयामी प्रयासों में जुटी हुई है और इसका प्रभाव परिवेश मेंं नजऱ भी आ रहा है। राजस्थान के हर क्षेत्र मेंं लोक कल्याण योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन किया जा रहा है। खासकर भीलवाड़ा जिले के जरूरतमन्दों के जीवन की परेशानियों को दूर कर सुकूनदायी जीवन देने की दिशा में व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं। भीलवाड़ा जिले की माण्डलगढ़ तहसील अन्तर्गत मालकाखेड़ी ग्राम पंचायत के सन्ताजी का खेड़ा गांव निवासी विधवा शान्ति बंजारा के लिए सरकार की मदद जिन्दगी भर के लिए वह सहारा सिद्ध हुई है जिसे वह कभी भुला नहीं पाएगी।
सहारा बनी सरकारी योजनाएं : पति के देहावसान के बाद शान्ति पर जैसे विपदाओं का पहाड़ ही टूट पड़ा। परिवार में शान्ति के साथ ही पुत्र प्रताप, सुनील तथा पुत्री पिंकी के भरण-पोषण का संकट पैदा हो गया। इसके साथ ही बच्चों की पढ़ाई-लिखाई को जारी रखना भी चुनौती बन गई। इस स्थिति में शान्ति के लिए सहारा बनी सरकार की योजनाएं।आसान हुई जिन्दगी : सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा शान्ति बंजारा को विधवा पेंशन के रूप मेें हर माह 750 रुपए स्वीकृत हुए वहीं विभाग की पालनहार योजना का लाभ विधवा शांति बंजारा के तीन बच्चों को भी मिला जिसमें प्रत्येक के लिए एक-एक हजार रुपये का आर्थिक सम्बल प्राप्त हुआ। इस तरह हर माह 3 हजार 700 रुपए का आर्थिक सहयोग शान्ति के परिवार के लिए बहुत बड़ा सम्बल बना हुआ है। शान्ति कहती है कि सरकार ने उसके परिवार को जो सम्बल दिया है वह उसके लिए जीवनदायी साबित हुआ है। इसके लिए वह राज्य सरकार की सराहना करते नहीं थकती।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *