किसी बड़ी फिल्म को न कहना सबसे मुश्किल होता है सोनम कपूर

बॉलिवुड अभिनेत्री सोनम कपूर ने एक बातचीत में कहा कि एक कलाकार के नाते हर स्क्रिप्ट में अपनी मजबूत भूमिका खोजना बेहद मुश्किल काम होता है। ऐसा ही मुश्किल होता है किसी बड़ी फिल्म में एक छोटी भूमिका के लिए न कहना। क्योंकि जब वह फिल्म सफल हो जाती है तब अफसोस होता है। कई बार बड़ी फिल्मों में निभाई गई छोटी-छोटी भूमिकाओं से आगे भी काम मिलते रहते हैं। सिनेमा और फिल्म कलाकारों की सामाजिक जिम्मेदारी पर बात करते हुए सोनम कहती हैं, ‘सिनेमा के दूरगामी प्रभाव होते है, ऐसे में फिल्म कलाकारों को उनकी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। सिनेमा का लोगों की मानसिकता पर बड़ा प्रभाव पड़ता है, जिसके चलते हमें उनके प्रति उत्तरदायी होना चाहिए। किसी फिल्म में अपने किरदार के बड़े या छोटे होने पडऩे वाले प्रभाव पर सोनम कहती हैं, मुझे नहीं लगता कि एक फिल्म में किसी भी भूमिका की लंबाई मायने रखती है। उसमें यह मायने रखता है कि क्या वह सशक्त है। उस भूमिका का फिल्म की कहानी पर क्या प्रभाव पड़ेगा। इसके अलावा किसी की कलाकार के लिए चुनौतीपूर्ण यह होता है कि वह उसकी दी गई भूमिका को पर्दे पर जीवंत कर सकें। सोनम आगे कहती हैं, मुझे जब कोई कहानी सुनाई जाती है तब मैं यह सोचती हूं कि इस किरदार में यह क्या नया कर सकती हूं। आपके सामने कौन सा अभिनेता है, आपकी भूमिका की लंबाई कितनी है। यह सभी बातें किसी भी काम की शुरुआत करने के लिए गलत प्रक्रिया है। किसी बड़ी फिल्म के चुनाव के दौरान की मुश्किलें बताते हुए सोनम कहती है, ‘सबसे मुश्किल काम होता है… किसी बड़ी फिल्म को ना कहना। कभी-कभी मुझे लगता है कि अगर मैंने वह फिल्म कर ली होती तो आज वह हिट होती और उस फिल्म के कारण मुझे और भी भूमिकाएं करने को मिलती, लेकिन मेरी सभी फिल्में व्यवसाय की दृष्टि से सफल रही है। हमें भी असुरक्षा की भावना होती है, यह भावना तो होगी ही। हम सभी को एक बात सीखनी चाहिए कि हममें साहस और अच्छी नियत होना चाहिए। सोनम इन दिनों अपनी फिल्म वीरे दी वेडिंग के पोस्ट प्रॉडक्शन के काम को पूरा कर रही हैं। करीना कपूर खान लंबे वक्त बाद ‘वीरे दी वेडिंग’ से इंडस्ट्री में अपना कमबैक करने जा रही हैं। फिल्म में सोनम कपूर के अलावा स्वरा भास्कर और शिखा तल्सानिया जैसे ऐक्टर्स भी नजर आएंगे। सोनम संजय दत्त की बायॉपिक में भी नजर आएंगी। पिछले दिनों सोनम अक्षय कुमार के साथ फिल्म पैडमैन में नजर आई थीं।

बॉलिवुड अभिनेत्री सोनम कपूर ने एक बातचीत में कहा कि एक कलाकार के नाते हर स्क्रिप्ट में अपनी मजबूत भूमिका खोजना बेहद मुश्किल काम होता है। ऐसा ही मुश्किल होता है किसी बड़ी फिल्म में एक छोटी भूमिका के लिए न कहना। क्योंकि जब वह फिल्म सफल हो जाती है तब अफसोस होता है। कई बार बड़ी फिल्मों में निभाई गई छोटी-छोटी भूमिकाओं से आगे भी काम मिलते रहते हैं। सिनेमा और फिल्म कलाकारों की सामाजिक जिम्मेदारी पर बात करते हुए सोनम कहती हैं, ‘सिनेमा के दूरगामी प्रभाव होते है

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *