कैमरे के सामने कपड़े उतारने के लिए मजबूत इरादे चाहिए सनी लियोन

इन सनी लियोनी अपनी बायोपिक करणजीत: द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सनी लियोनी को लेकर सुर्खयि़ों में हैं। फि़ल्म में सनी के पॉर्न स्टार से लेकर बॉलीवुड तक के सफऱ को दर्शकों के सामने रखा गया है। दुनिया की कोई लड़की या महिला पॉर्न इंड्रस्टी में ख़ुद की ख़ुशी से शामिल नहीं होती, इसके पीछे जरूर कोई ख़ास कारण छिपा होता है। सनी के साथ भी कुछ ही हुआ था, जो उन्हें मजबूरन इस इंड्रस्टी में कदम रखना पड़ा।दरअसल, सनी के घर आर्थिक हालत काफ़ी तंग थे। यहां तक समय इतना खऱाब चल रहा था कि घर चलाने के लिए उनकी मां को अपना मंगलसूत्र तक गिरवी रखना पड़ा था। वहीं जब सनी को ये बात चली, तो उन्होंने अपनी पहली कमाई से अपनी मां का मंगलसूत्र छुड़वाया। सनी कैसे बन गई पॉर्न स्टार? बात 2003 की है, सनी के पास एडल्ट मैगजीन पेंटाहाउस की ओर से बोल्ड फोटोशूट का ऑफर था, उस समय उनके पिता की नौकरी भी छूट गई थी और वो बेरोजग़ार थे। घर चलाने के लिए सनी की मां को अपना मंगलसूत्र सुनार के पास गिरवी रखना पड़ा। पहले फोटोशूट को लेकर सनी थोड़ा कंफ्य़ूज़ थी, लेकिन घर की मजबूरियों को देखते हुए उन्होंने मैगजीन के ऑफऱ को स्वीकार कर लिया।इसके बाद जैसी ही सनी को अपनी पहली कमाई के 1000 डॉलर मिले, उन्होंने तुरंत मां का मंगलसूत्र छुड़वाया। यहीं से सनी को लगातार को फ़ोटोशूट के ऑफऱ आने लगे थे। हालांकि, इस बारे में उनके माता-पिता को कोई जानकारी नहीं थी। साथ ही सनी ने कुछ ब्रांड्स के लिए मॉडलिंग भी शुरू कर दी थी।अपनी लाइफ़ के बारे में बाते करते हुए सनी ने एक इंटरव्यू में ये भी कहा था कि कपड़े उतारने के लिए मजबूत इरादों की ज़रुरत होती है। सनी महज़ 11 साल की थी, जब वो यूएस शिफ़्ट हो गई थी। उनके पिता इंजीनियर और मां हाउस वाइफ़ थी। इसके अलावा उनका भाई संदीप सिंह वोहरा अमेरिका में बतौर शेफ काम करता है। सनी का पास्ट बुरा ज़रुर था, लेकिन आज वो अपनी जि़ंदगी में काफ़ी आगे बढ़ चुकी हैं और बॉलीवुड का जाना-माना चेहरा भी हैं। आज भी समाज में कई लोग ऐसे हैं, जो उन्हें बुरी नजऱों से देखते हैं, लेकिन क्या ये सही है?
सनी लियोनी पर बन रही फिल्म में कौर शब्द का विरोध- दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी के नाम पर बन रही फिल्म में उनके नाम के आगे कौर शब्द का इस्तेमाल करने पर गंभीर नोटिस लिया है। कमेटी ने फिल्म निर्माता सुभाष चंद्रा (एस्सल ग्रुप) को कहा है कि वह या तो इस शब्द को फिल्म से हटा लें या फिर सिख भावनाओं को ठेस पहुंचाने पर नतीजे भुगतने को तैयार रहें।सुभाष चंद्रा को लिखे इस पत्र में कमेटी के जनरल सेक्रेटरी मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि करनजीत कौर- द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सनी लियोनी नाम की फिल्म में सनी लियोनी के जीवन को दर्शाया गया है। इससे सिख भावनाओं को गहरी चोट लगी है। उन्होंने कहा कि हैरानी इस बात की है कि उत्तर भारतीय होते हुए व पंजाबी जीवन शैली से भलीभांति परिचित होने के बावजूद उन्होंने कौर शब्द के साथ फिल्म बनाने की अनुमति बनाने की मंजूरी दी।उन्होंने कहा की कौर शब्द हर सिख महिला के नाम के साथ लगता है। इससे उसे गुरु साहिब की तरफ से बख्शी गई अलग पहचान हासिल होती है। उन्होंने कहा कि उनको इस बात पर एतराज नहीं है कि सनी लियोनी का अतीत कैसा रहा है और उनके जीवन पर फिल्म बन रही है। उन्होंने सनी लियोनी के नाम से प्रसिद्धि पाई है तो फिल्म करनजीत कौर नाम से क्यों बनाई जा रही है? उन्होंने कहा की डीएसजीएमसी ने इससे पहले जैकलीन फर्नांडिज की ओर से किरपाण धारण कर गाने का विरोध किया था। इसके बाद उन्हें गाने में संशोधन करना पड़ा था। इसी तरह तारक मेहता का उलटा चश्मा में गुरु गोबिंद सिंह का चरित्र दिखाने का भी विरोध किया गया था। डीएसजीएससी सिख मर्यादा के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं करेगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *