फर्जी रसीद बुक से लाखों की चपत लगाई

श्रीगंगानगर, 19 मार्च (नि.स.)। फर्जी रसीद बुक से एक दवा कम्पनी को लाखों की चपत लगाये जाने का एक मामला स्थानीय सदर थाना में दर्ज हुआ है। पुलिस के अनुसार मॉडल टाऊन-द्वितीय निवासी इकबाल सिंह पुत्र गुरमेल सिंह रामगढिय़ा ने रिद्धि सिद्धि कॉलोनी-प्रथम में रहने वाले प्रवीण पुत्र हरीसिंह जाट पर लाखों रुपये की गड़बड़ करने का आरोप लगाते हुए यह मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस के अनुसार इकबाल सिंह ने बताया कि उसकी पशुओं के लिए दवाएं बनाने की कम्पनी मूनलाइट फार्मासिस्ट है। कम्पनी द्वारा दवाइयां दुकानदारों को सप्लाई की जाती हैं। प्रवीण उसकी कम्पनी में साझेदार है। पिछले दिनों उसने कुछ फर्मांे को सप्लाई की गई दवाइयों का भुगतान करने के लिए इन फर्मांे के संचालकों से सम्पर्क किया, तो उन्होंने बताया कि वे तो भुगतान कर चुके हैं। उनके पास भुगतान की रसीदे भी हैं। कम्पनी के डायरेक्टर इकबाल सिंह ने बताया कि जब उसने इन फर्मांे के संचालकों से वाट्सअप पर यह रसीदें मंगवाईं, तो वह फर्जी थीं। जितना भुगतान प्राप्त होना इन रसीदों में दिखाया गया था, वह उसकी कम्पनी के रिकॉर्ड में दर्ज ही नहीं था। बाद में उसे पता चला कि प्रवीण ने फर्जी रसीद बुक चुकवाकर उससे रसीद काटीं और भुगतान की राशि को हड़प कर गया। पुलिस के अनुसार मुकदमे मेें बताया गया है कि प्रवीण ने दो रसीदें काटकर चार लाख 48 हजार 794 तथा 1 लाख 32 हजार से ज्यादा की रकम कथित रूप से हड़प ली। जालसाजी व धेाखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *