चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स के नेट प्रॉफिट में 50 फीसदी की गिरावट

मुंबई। रेवेन्यू के लिहाज से देश की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा मोटर्स का मार्च में समाप्त हुए क्वॉर्टर में नेट प्रॉफिट 50 पर्सेंट गिरा है। इसका कारण जगुआर लैंड रोवर और टाटा मोटर्स में कुछ डिवेलपमेंट प्रोग्राम को समाप्त करने के कारण 1,641 करोड़ रुपये का इम्पेयरमेंट चार्ज है। चौथी तिमाही में कंपनी का टैक्स के बाद कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 50 पर्सेंट घटकर 2,175.16 करोड़ रुपये रहा। पिछले वर्ष के इसी क्वॉर्टर में यह 4,336.43 करोड़ रुपये था। टाटा मोटर्स का चौथे क्वॉर्टर में रेवेन्यू 16 पर्सेंट बढ़कर 91,279 करोड़ रुपये रहा। इससे पहले जगुआर लैंड रोवर के कारण टाटा मोटर्स को मुनाफा बढ़ाने में मदद मिलती थी, लेकिन यूरोप और ब्रिटेन के प्रमुख मार्केट्स में मंदी से कंपनी के प्रदर्शन पर असर पड़ा है। मार्च क्वॉर्टर में कंसॉलिडिटेड श्वक्चढ्ढञ्ज मार्जिन 0.90 पर्सेंट गिरकर 6.6 पर्सेंट रहा। टाटा मोटर्स के चीफ फाइनैंशल ऑफिसर पी.बी. बालाजी ने कहा कि भारत और चीन के मार्केट में ग्रोथ जारी रहेगी। अमेरिका में मंदी है और यूरोप और ब्रिटेन में डीजल और ब्रेग्जिट को लेकर चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इसका असर जगुआर लैंड रोवर पर पड़ सकता है। उन्होंने बताया, हमारे पास प्रॉडक्ट्स की बड़ी पाइपलाइन है। इनमें इलेक्ट्रिक व्हीकल्स भी शामिल हैं। हम प्रीमियम सेगमेंट को बढ़ाने पर ध्यान देंगे। कंपनी का टारगेट देश में वॉल्यूम बढ़ाना और मार्केट शेयर वापस हासिल करना है।’ टाटा मोटर्स को डिमांड को लेकर स्थिति बेहतर रहने की उम्मीद है। हालांकि, कंपनी ने कमोडिटी की कॉस्ट बढऩे की आशंका जताई है। बालाजी ने बताया कि कंपनी नॉन-कोर एसेट्स से बाहर निकलने पर काम कर रही है। डिफेंस बिजनेस की बिक्री पूरी करने के साथ ही यह टाटा टेक्नोलॉजीज और टाटा हिताची में हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है। इसके साथ ही इसकी योजना टाटा स्टील में अपने इनवेस्टमेंट से भी बाहर निकलने की है। जगुआर लैंड रोवर से डिविडेंड 15 करोड़ डॉलर से बदलकर टैक्स के बाद प्रॉफिट का 25 पर्सेंट कर दिया गया है। इसका कारण जगुआर लैंड रोवर की डिविडेंड पॉलिसी में बदलाव है। इस वर्ष टाटा मोटर्स को जगुआर लैंड रोवर से 22.5 करोड़ डॉलर का डिविडेंड मिला है।बीएसई पर बुधवार को टाटा मोटर्स का शेयर 0.49 पर्सेंट की तेजी के साथ 309.25 रुपये पर बंद हुआ।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *