जिम को गुंडों का अड्डा नहीं बनने देंगे : एसपी

श्रीगंगानगर, 29 अप्रैल (एजेन्सी)। श्रीगंगानगर शहर तथा आसपास के ग्रामीण इलाकोंं में बड़ी तेजी से खुल रहे जिम और गुपचुप रूप से चल रहे हुक्काबारों पर जिला पुलिस नकेल कसने जा रही है। पुलिस अधीक्षक हेमंत शर्मा ने आज शाम सदर थाना में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि जिम को गुंडों का अड्डा नहीं बनने दिया जायेगा। सभी जिम संचालकों की शीघ्र बैठक बुलाकर हिदायत दी जायेगी कि उनके यहां ट्रेनर या अन्य प्रकार के नियुक्त किये हुए कर्मचारियों ही नहीं, बल्कि कसरत करने के लिए आने वाले सभी युवकों की पुलिस तस्दीक करवाई जाये। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय से ऐसी आपराधिक वारदातें हुई हैं, जिनका सम्बंध जिम अथवा हुक्का-बारों से निकला है। वह चाहे 22 मई 2018 को जवाहरनगर के मीरा मार्ग पर मैटेलिका जिम में हिस्ट्रीशीटर विनोद चौधरी उर्फ जॉर्डन की गोलियां मारकर हत्या कर दिये जाने की वारदात हो या फिर 5 नवम्बर 2018 को पुरानी आबादी के मोहर सिंह चौक में युवक आयूष सहारण की गोलियां मारकर हत्या की गई हो, इन वारदातों का ही नहीं, बल्कि कई और वारदातों की जांच-पड़ताल की गई तो उनका सम्बंध जिम में काम करने वाले कर्मचारियों अथवा कसरत करने वाले युवाओं से निकला है। विगत 25 अप्रेल की शाम को हनुमानगढ़ मार्ग पर चहल चौक के समीप सेवानिवृत्त थानेदार रामकुमार कस्वा के पुत्र हिमालय पर हुए कातिलाना हमले के मुल्जिमों के पकड़े जाने की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस घटना में भी जिन युवकों को पूछताछ के लिए पकड़ा गया, उनका सम्बंध भी जिम अथवा हुक्का बारों से निकला है। कतिपय जिम में तो ट्रेनर भी आपराधिक पृष्ठभूमि वाले पाये गये हैं। उन्होंने कहा कि युवकों और किशोरवय उम्र के किशेारों में फैशन बनता जा रहा है, सोशल मीडिया पर जिम में वर्कआउट करते अथवा अपने शारीरिक सौष्ठव को प्रदर्शित करते की तस्वीरें अपलोड करना। जिम के ट्रेनर अथवा वर्कआउट करने वाले कथित रूप से बाउंसर बनकर आपराधिक वारदातों में लिप्त हो रहे हैं। हुक्काबारों में भी ऐसे ही लोगों का जमावड़ा लगे रहने की सूचनाएं मिल रही हैं। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि श्रीगंगानगर शहर में खुले रूप से कहीं भी हुक्काबार चलने की सूचना नहीं है। अगर कहीं किसी रेस्टोरेंट की आड़ में हुक्काबार चल रहा है तो कोई भी व्यक्ति इसकी सूचना अथवा फोटो उनके व्यक्तिगत नम्बर पर वाट्सअप कर सकता है। उसका नाम-पता गोपनीय रखते हुए इस पर तत्काल कार्यवाही की जायेगी। एसपी ने कहा कि जिम संचालकों को निर्देश दिये जा रहे हैं कि वे अपने यहां कसरत करने आने वाले युवाओं-किशोरों और उनके यहां काम करने वाले कर्मचारियों की एक सप्ताह में पुलिस तस्दीक करवायें।इसके बाद अगर चैकिंग में कोई बिना पुलिस तस्दीक के वहां काम करते अथवा कसरत करते आपराधिक पृष्ठभूमि वाला कोई पकड़ में आया तो जिम संचालक के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। प्रेस वार्ता में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र सिंह राठौड़, प्रशिक्षु आईपीएस हितिका वासल, उपाधीक्षक (शहर) इस्माइल खां, सदर थानाप्रभारी राजेश सिहाग और सब इंस्पेक्टर अल्का बिश्नोई आदि भी मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *