भिक्षावर्ती से मुक्त करवाकर लौटाया बचपन

भिक्षावर्ती में लिप्त बच्चों के उन्मूलन हेतू विशेष अभियान

गंगानगर, 21 जुलाई (का.सं.)। गंगानगर में बच्चों से भिक्षावर्ती करवाये जाने के खिलाफ चल रहे उन्मूलन अभियान के तहत गौशाला रोड, शनि मंदिर पर 22 बच्चों को भिक्षावर्ती करते हुए पाया गया। रेस्क्यू टीम में बाल कल्याण समिति अध्यक्ष एडवोकेट लक्ष्मीकांत सैनी,सदस्य एडवोकेट प्रदीप धरेड,सदस्य प्रभा शर्मा,जगदीश चंदेल,तपोवन चाइल्डलाइन के जिला समन्वयक त्रिलोक वर्मा,मानव तस्करी विरोधी यूनिट से ए.एस. आई.जगजीत सिंह,हवलदार रामजीलाल, सिपाही विजय शंकर रॉबिन हुड संस्था से केवल कृष्ण शामिल रहे। मौके पर पहुंचे टीम सदस्यों ने बच्चों से मैत्रीपूर्ण वातावरण मेें उनके बारे में जानकारी हासिल की। इन बच्चों की आयु 4 से 14 वर्ष के मध्य थी। कुछ बच्चों ने बताया की वह मॉडल टाउन के पास झुगी झोपड़ी के रहने वाले है। बच्चों ने बताया की हमारे पिता कोई भी काम नही करते है, शराब पीते है और घर पर ही रहते है। हमें रोजाना भीख मांगने के लिये भेज देते हैं। यह सभी बच्चे गंगानगर शहर के ही हैं और खानाबदोश बस्तियों में अपना जीवन यापन कर रहें है। टीम ने बच्चों के घरों का पता लगाकर माता-पिता की समझाइश कर आवश्यक कार्यवाही कर बच्चे परिजनों को सौंप दिए। बाल कल्याण समिति एवं चाइल्डलाइन ने इन बच्चों की शिक्षा की माकूल व्यवस्था करते हुये,4 बच्चों को चहल चौक पर राजकीय विद्यालय में और 6 बगाों को गुरुनानक बस्ती राजकीय विद्यालय में प्रवेश दिलाया। इन सभी बच्चों के माता-पिता को हिदायत दी गई है की अगर इन बच्चों को पुन: भिक्षावर्ती में लिप्त किया तो,बच्चों के अधिकारों के हनन में कानूनी कार्यवाही की जावेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *