अजवायन के छोटे-छोटे दाने के हैं बड़े-बड़े फायदे, एसिडिटी में मिलता है आराम

छोटे से आकार वाली अजवाइन, जो एक हर्ब (जड़ी-बूटी) है, इतने बड़े-बड़े काम कर सकती है, सोचकर हैरानी हो सकती है। पर यह भी सच है कि दादी-नानी के नुस्खों में अजवाइन हमेशा हुआ करती थी। औषधीय गुणों का भंडार अजवाइन का इस्तेमाल रसोईघर के साथ-साथ आयुर्वेद में भी खूब होता है। खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ यह कई तरह की बीमारियों को भी दूर रखने में मदद करती है। आमतौर पर अजवाइन का इस्तेमाल नमकीन पूरी, नमक पारे और पराठों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन स्वाद में थोड़ी कड़वी होने के बावजूद अजवाइन ऐसी गुणकारी औषधि है कि इसका नियमित सेवन करने व अजवाइन वाला पानी पीने से दवाइयां खाने से आप बच सकती हैं। अजवाइन सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाती है, बल्कि यह सेहत से जुड़ी कई परेशानियों से भी राहत देती है। अजवाइन किस तरह से सेहत के लिए है फायदेमंद, अजवाइन में 11.9 प्रतिशत फाइबर, 38.6 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट, 8.9 प्रतिशत नमी, 15.4 प्रतिशत प्रोटीन और 18.1 प्रतिशत फैट्स होते हैं। इसके अलावा इसमें 7.1 प्रतिशत फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन और निकोटिनिक एसिड जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं। अजवाइन और किस तरह से सेहत के लिए फायदेमंद है, आइए जानें: पाचन तंत्र को रखती है दुरुस्त डाइटीशियन नमामी अग्रवाल का कहना है, ‘अपच हो या कब्ज की शिकायत हो, अजवाइन वाला पानी पीने से खाना आसानी से पच जाता है। इसका पानी पीने से पेट दर्द, गैस, उल्टी, खट्टी डकार और एसिडिटी में आराम मिलता है। खाना खाने के बाद अजवाइन के पानी में नीबू का रस और काला नमक डालकर पीने से खट्टी डकार और गैस की समस्या दूर हो जाती है। यदि अकसर गैस की वजह से आपका पेट फूला हुआ रहता है तो भी अजवाइन का पानी पीने से आपको लाभ होगा। सही भोजन न खाने व अनियमित जीवनशैली की वजह से अकसर पेट से जुड़े रोग हो जाते हैं। इनसे छुटकारा दिलवाने में भी अजवाइन का पानी कारगर होता है।एसिडिटी में आराम एसिडिटी एक बेहद आम परेशानी बन गई है। नमामी अग्रवाल कहती हैं कि एसिडिटी वह अवस्था होती है, जिसमें पेट में अत्यधिक मात्रा में एसिड या अम्ल का स्राव होता है। एसिडिटी की वजह से पेट में जलन या फिर खट्टी डकारें आती हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए थोड़ी-थोड़ी मात्रा में सौंफ और अजवाइन लें और उन्हें चबाएं। अजवाइन का पानी घूंट-घूंट कर पीना भी एसिडिटी में काफी फायदेमंद रहता है।जुकाम रहेगा दूर अजवाइन में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स और जलनरोधी तत्व पाए जाते हैं, जिनसे न सिर्फ छाती में जमे कफ से छुटकारा मिलता है, बल्कि सर्दी और साइनस में भी आराम पहुंचता है। सर्दी-खांसी में अजवाइन के पानी में एक चुटकी काला नमक मिलाकर पीने से फायदा होता है। एक कप अजवाइन का पानी पीने से सिरदर्द में राहत मिलती है वजन रहेगा काबू में रोज सुबह एक कप अजवाइन का पानी पीने से बढ़ा वजन कम होता है। अजवाइन का पानी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है, जिससे अतिरिक्त चर्बी घटने लगती है। पाचन तंत्र अच्छी तरह से काम करता है और भोजन पच जाता है तो वजन बढऩे की आशंका कम हो जाती है। ये भी हैं फायदे अजवाइन की पोटली बनाकर घुटनों को सेंकने के अलावा अगर आधा कप अजवाइन के रस में सौंठ मिलाकर पिएं तो गठिया के दर्द में आराम मिलता है। अगर खाली पेट अजवाइन के पानी का सेवन किया जाए तो धीरे-धीरे डायबिटीज की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। ृअजवाइन में कई विटामिन्स भी पाए जाते हैं, जो हृदय को स्वस्थ बनाए रखते हैं। इसके सेवन से रक्तसंचार ठीक रहता है। दिल की बीमारियों से बचने के लिए अजवाइन एक कारगर औषधि है। रोज सुबह अजवाइन का पानी पीने से दांतों का दर्द और मुंह की बदबू दूर होती है। अगर आप अनियमित पीरियड की समस्या से पीडि़त हैं तो नियमित रूप से अजवाइन पानी पिएं। पीरियड से जुड़े दर्द को दूर करने में अजवाइन का पानी काफी कारगर है। अगर त्वचा पर दाने आदि हो गए हैं और उनमें खुजली हो रही हैं तो हल्के गुनगने पानी के साथ अजवाइन को पीस लें और प्रभावित त्वचा पर लगाएं। सोने से पहले एक कप अजवाइन का पानी पीने से नींद अच्छी आती है। ऐसे बनाएं अजवाइन का पानी 2 चम्मच भुनी हुए अजवाइन को एक कप पानी में रात भर के लिए भिगोकर रखें। सुबह इस पानी को उबालकर छान लें। ठंडा करके खाली पेट पिएं। इसमें नीबू और काला नमक मिलाकर भी पी सकती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *