कौशल प्रशिक्षण में राजस्थान का परचम फिर से लहराया स्कौच अवॉर्ड जीतकर बड़ी जीत अपने नाम की

जयपुर, 10 मार्च (का.सं.)। कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में अव्वल राज्य का नाम र्अजित कर चुके राजस्थान राज्य ने एक बार फिर इस क्षेत्र में अपना परचम लहराया है। ऐसोचैम एवं एमएसडीई (मिनिस्ट्री ऑफ स्किल डवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप ) द्वारा कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में लगातार तीन वर्षों से सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार जीतने के बाद कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग ने एक बार फिर नई दिल्ली में आयोजित स्कौच अवाड्र्स समिट में प्लेटिनम अवार्ड अपने नाम किया है। कौशल नियोजन एवं उद्यमिता मंत्री, डॉ. जसवंत सिंह यादव तथा आयुक्त एवं विशिष्ट सचिव, एसईई कृष्ण कुणाल ने चैयरमेन, स्कौच ग्रुप समीर कोछर से यह सम्मान ग्रहण किया। डॉ. यादव ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के युवाओं को कौशल प्रशिक्षण एवं रोजगार की अपार संभावनाओं से जोडऩे के लिए विभाग ने कई पहल की हैं। पिछले चार वर्षों में विभाग ने प्रदेश में न केवल 6.3 लाख से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षित किया है, बल्कि उन्हें कौशल प्रशिक्षण के कई नए क्षेत्रों जैसे फड़ पैंटिग्स, थेरपेटिक स्पा आदि से भी जोड़ा है।
कृष्ण कुणाल ने कहा कि राजस्थान ने ही देश को उसका प्रथम कौशल विश्वविद्यालय, प्रदान किया है। इसी के साथ प्रदेश में निजी कौशल विश्वविद्यालय बीएसडीयू का भी संचालन किया जा रहा है जो कि युवाओं को एन एस क्यू एफ लेवल 5-10 का प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है तथा युवाओं को स्विस डुअल सिस्टम के माध्यम से कौशल प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसी के साथ प्रदेश कुल 1943 आईटीआई के प्रबल नेटवर्क के साथ देश में दूसरे स्थान पर है और अब प्रदेश में आईटीआई की शमता बढ़कर 3.87 लाख हो गई है। इसी के साथ प्रदेश में जल्द ही नये आईटीआई की स्थापना भी की जाएगी साथ ही 38 नए टे्रड भी जोड़े गये हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *