गेहूं की ऑनलाइन खरीद के विरुद्ध व्यापारियों ने बजाया बिगुल

श्रीगंगानगर, 12 जनवरी (का.सं.)। इस बार के सीजन में प्रदेश सरकार द्वारा गेहूं की सरकारी खरीद ऑनलाइन किये जाने के निर्णय के खिलाफ श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिलों के व्यापारियों ने एकजुट होकर संघर्ष करने का बिगुल बजा दिया है। शनिवार को श्रीगंगानगर की नई अनाज मण्डी में स्थित ट्रेडर्स एसोसिएशन भवन में दोनों जिलों के लगभग सभी शहरों, कस्बों से आये व्यापारियों की आम बैठक हुई। इसमें बीकानेर जिले के खाजूवाला से भी व्यापारियों का एक दल पहुंचा। दोनों जिलों से आये अनाज मण्डियों के व्यापारियों, व्यापार मण्डलों के पदाधिकारियों ने गेहूं की सरकारी खरीद इस बार ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन किये जाने से व्यापारिक व्यवस्था बिगड़ जाने की आशंका जताते हुए इसका प्रबल विरोध करने का फैसला किया गया। श्रीगंगानगर जिला व्यापार संघ के अध्यक्ष किशन दुग्गल तथा हनुमानगढ़ जिला व्यापार संघ के अध्यक्ष घनश्याम भादू ने सभी मण्डियों से आये व्यापारियों तथा व्यापार मण्डलों के प्रतिनिधियों के विचार एवं सुझाव सुनने के बाद संयुक्त रूप से ऐलान किया कि ऑनलाइन खरीद के खिलाफ कल रविवार से 15 जनवरी तक लगातार तीन दिन सभी मण्डियों मेें व्यापार ठप रखा जायेगा। दोनों जिलों की मण्डियों में कृषि जिन्सों की बोली नहीं होगी।इस ऐलान का बीकानेर जिले के खाजूवाला से आये व्यापारिक दल के रामप्रताप   भादू, उमेश पचार और रवीन्द्र आदि ने समर्थन किया। इस आम सभा में बताया गया कि बीकानेर जिले के व्यापारियों ने भी इस आंदोलन का समर्थन किया है। आम सभा में आये हुए व्यापारियों से आह्वान किया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र के विधायकों का समर्थन हासिल करें। प्रयास किये जायेंगे कि दोनों जिलों के सभी विधायकों को साथ लेकर व्यापारियों का एक बड़ा शिष्टमण्डल जयपुर जाकर मुख्यमंत्री तथा कृषि विपणन मंत्री, सहकारिता मंत्री और कृषि मंत्री से मिलेगा। सरकार से आग्रह किया जायेगा कि गेहूं की सरकारी खरीद की व्यवस्था न केवल वही रखी जाये, बल्कि पंजाब-हरियाणा के पैटर्न पर खरीद कर ली जाये तो इससे व्यापारियों को ही नहीं, बल्कि किसानों को भी फायदा होगा। आम सभा में श्रीगंगानगर ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विपिन अग्रवाल, श्रीगंगानगर कगाा आढ़तिया संघ के अध्यक्ष राजकुमार बंसल, पूर्व अध्यक्ष कुलदीप कासनिया, जिला व्यापार संघ के अध्यक्ष किशन दुग्गल, हनुमानगढ़ जिला व्यापार संघ अध्यक्ष घनश्याम भादू, भाजपा नेता रवि सेतिया, संगरिया से आये महेन्द्र जैन, जैतसर से वेदप्रकाश, रायसिंहनगर से अशोक गोयल व संजीव पटवारी, गोलूवाला से सुखदेव सिंह जाखड़, विजयनगर से रामकिशन, पदमपुर से बूलचंद बलाना, सूरतगढ़ से ललित सिडाना, ट्रेडर्स एसोसिएशन श्रीगंगानगर के महामंत्री विनय जिन्दल, कगाा आढ़तिया संघ के महामंत्री अशोक छाबड़ा, केसरीसिंहपुर से चिमनलाल आदि ने विचार रखे। वक्ताओं ने कहा कि व्यापारियों का यह आंदोलन तभी मजबूत तथा सार्थक और कामयाब होगा, जब किसानों को भी इसमें शामिल किया जाये। जोर दिया गया कि किसान संगठनों से इस मुद्दे पर बात की जाये और उनका भी समर्थन हासिल किया जाये। व्यापारी नेताओं ने कहा कि अगर एफसीआई के जरिये गेहूं की ऑनलाइन खरीद की जाती है, तो व्यापारियों को आढ़त मिलना मुश्किल हो जायेगा। इसकी प्रक्रिया काफी कठिन हो जायेगी। दूसरा किसानों के साथ-साथ व्यापारियों को फसल बिकने का काफी दिन तक इंतजार करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन खरीद व्यापारियों के लिए कतई हित में नहीं है। दूसरी तरफ किसानों में यह धारना बनी हुई है कि ऑनलाइन खरीद होने से आरटीजीएस के मार्फत भुगतान सीधा उनके खाते में आयेगा। यह एफसीआई के लिए भी दुविधाजनक है। इसमेें यह सुधार किया जा सकता है कि बेशक खरीद ऑनलाइन की जाये, लेकिन भुगतान सीधे किसानों को नहीं, बल्कि व्यापारियों के खाते में आरटीजीएस से किया जाये। इसमें एफसीआई को कम आरटीजीएस करने पड़ेंगे। व्यापारी को भुगतान मिलने पर वह आगे किसानों को भुगतान करेगा तो उसे आढ़त जल्दी मिलेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *