मीडिया प्रतिनिधियों को दिया प्रशिक्षण

मतदान, विज्ञापन अधिप्रमाणन एवं पेड न्यूज के बारे दी जानकारी

जयपुर, 9 अक्टूबर (का.सं.)। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य में मीडिया अपनी सक्रिय भूमिका निभाए तथा कहीं भी आचार संहिता के उल्लंघन की खबर मिले तो उसे निर्वाचन विभाग के ध्यान में लाएं। उन्होंने कहा कि ऐसे समाचारों की जांच कर उन पर पुख्ता कार्यवाही की जाएगी।सी-विजिल एप के जरिये आमजन भी आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत मय सबूतों के कर सकता हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी मंगलवार को हरिशचन्द्र माथुर राजस्थान राज्य लोक प्रशासन संस्थान (ओटीएस) के भगवत सिंह मेहता स्मृति सभागार में राज्य निर्वाचन विभाग की ओर आयोजित मीडिया के प्रतिनिधियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर रहे थे।कुमार ने कहा कि विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया से लेकर चुनाव संपन्न होने तक निर्वाचन विभाग हर स्थिति की मॉनिटरिंग करता रहेगा। हम स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने मीडिया से अपील की कि विभाग द्वारा संचालित गतिविधियों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने में सहयोग करें। विभागीय अधिकारी भी मीडिया को हर सम्भव सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि स्वीप कार्यक्रम के जरिये निर्वाचन विभाग मतदाता जागरूकता अभियान चला रहा हैं। इसके तहत मतदाताओं को मताधिकार का महत्व भी बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता की सख्ती से पालना सुनिश्चित करवाई जाएगी। इसके लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों (कलक्टर) एवं अन्य सभी विभागों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग एवं समन्वय से विधानसभा चुनाव पूर्ण निष्पक्षता के साथ सम्पन्न करवाये जायेंगे। उन्होंने मीडियाकर्मियों के सवालों के जवाब भी दियेअतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. जोगाराम ने कहा कि प्रदेश में पहली बार सभी 51 हजार 796 मतदान केंद्रों पर वीवीपेट मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है। हमारा प्रयास रहेगा कि कोई भी मतदाता मताधिकार से वंचित नहीं रहें। दिव्यांग मतदाताओं को मतदान करवाने के लिए वांछित सुविधाएं दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के दिव्यांगजनों को चुनाव के दौरान मतदान केंद्र पर लाने और मतदान के बाद उन्हें वापस निवास पर छोडऩे की व्यवस्था करने के निर्देश सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए गये हैं। उन्होंने कहा कि विभाग हर वह संभव कोशिश करेगा, जिससे शत-प्रतिशत दिव्यांगजन अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सके।इस अवसर पर निर्वाचन विभाग के विशेषाधिकारी हरिशंकर गोयल ने अपने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विज्ञापन प्रमाणिकरण, ईवीएम, वीवीपेट, राजनैतिक विज्ञापनों का अधिप्रमाणन, पेड न्यूज, तथा इसके निर्धारण की प्रक्रिया, पेड न्यूज की लागत की गणना, एक्जिट पोल, धारा 127 ए के तहत प्रकाशक एवं प्रिन्टर की विरूद्ध की जाने वाले कार्यवाही, पैम्फलेट, पोस्टर तथा अन्य दस्तावेजों के मुद्रण सहित सोशल मीडिया, मतदान तथा मतगणना केंद्रों पर मीडिया के प्रवेश हेतु वैधानिक प्रावधानों की जानकारी दी।प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर्स राजेश सोनानिया, चन्द्र शेखर शर्मा तथा युधिष्ठर ने ईवीएम से सुरक्षित मतदान तथा वीवीपेट मशीन के बारे में मीडिया कर्मियों को विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान मीडियाकर्मियों से भी वोटिंग मशीन तथा वीवीपेट मशीन स्विच ऑन करवा कर मॉक पोल करवाया गया। साथ ही उनकी शंकाओं का समाधान भी किया गया। प्रशिक्षण में प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक तथा संवाद एजेंसियों के संवाददाताओं ने हिस्सा लिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *