मिस्त्री की याचिका खारिज, मुंबई से दिल्ली ट्रांसफर नहीं होगा केस

नई दिल्ली। टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाए गए साइरस मिस्त्री की एक मामले को राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) की मुंबई पीठ से नई दिल्ली ट्रांसफर करने की याचिका को खारिज कर दिया है। न्यायमूर्ति एम़ एम़ कुमार की अध्यक्षता वाली एनसीएलटी की प्रधान पीठ ने गुरुवार को मिस्त्री की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। मिस्त्री के परिवार की दो कंपनियों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील सी़ ए़ सुंदरम ने सुनवाई के दौरान कहा कि मुंबई पीठ के पास पक्षपाती होने का कारण हो सकता है। उन्होंने कहा कि हमसे एक मंच (एनसीएलटी मुंबई पीठ) के सामने जाने के लिए कहा गया जो इस मुद्दे पर पहले ही फैसला कर चुकी है। हालांकि वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी और मुकुल रोहतगी ने इसका विरोध किया और इसे पीठ की खरीदारी का मामला बताया।सिंघवी ने कहा कि इसे पहले ही खारिज कर दिया जाना चाहिए था। उन्होंने तथ्यों की अनदेखी की है। वह इस मामले को दिल्ली स्थानांतरित करने के लिए पहले ही दो बार राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय अधिकरण (एनसीएलएटी) के सामने उठा चुके हैं और सुनवाई कर चुके हैं। अपीलीय प्राधिकरण ने भी इस पर कोई निर्णय नहीं किया है।साइरस इंवेस्टमेंट प्रा़ लि और स्टर्लिंग इंवेस्टमेंट कारपोरेशन प्रा़ लि़ ने इस मामले के स्थानांतरण की अपील की है। उल्लेखनीय है कि पिछले महीने एनसीएलएटी ने मिस्त्री को न्यूनतम अंशधारिता के नियम से छूट दे दी थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *