दो हथियार तस्करों को मय अवैध हथियारों के किया गिरफ्तार

जयपुर, 9 सितम्बर (कासं)। राज्य की अपराध शाखा ने प्रदेश के करौली जिले के महावीर जी में एक बड़ी कार्यवाही कर दो अवैध हथियार तस्करों को 15 पिस्टल एवं 20 जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध पंकज कुमार सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राज्य अपराध शाखा की विशेष टीम एवं थानाधिकारी महावीरजी मय जाप्ता ने शनिवार को संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए महावीरजी रेल्वे स्टेशन के पास स्थित अण्डर ब्रिज से गंधवानी जिला धार मध्यप्रदेश निवासी संजय पुत्र सरदया (19) आदिवासी भील एवं महेश पुत्र दुर्गा (25) आदिवासी भील को गिरफ्तार कर उनसे 15 पिस्टल एवं 20 जिन्दा कारतूस बरामद करने में सफलता हासिल की है। अतिरिक्त महानिदेशक ने बताया कि कुछ समय पूर्व मुखबिर से सूचना मिली थी कि मध्यप्रदेश के जिला धार के गंधवानी थाना क्षेत्र में रहने वाले सिकलीगर जाति के लोग भारत के समस्त राज्यों में बडी तादाद में अवैध हथियार सप्लाई करने का कार्य करते हैं। उन्होंने बताया कि करौली, गंगापुर एवं हिन्डौन क्षेत्र के करीब 20-25 लोगों के माध्यम से पूर्व में भी अवैध हथियारों की खेप असामाजिक तत्वों को बेचना सामने आया है।आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वे राजस्थान में भी लम्बे समय से करौली एवं सवाईमाधोपुर जिले में काफी तादाद में हथियार सप्लाई करने का कार्य पर कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज भी वे गंगापुर निवासी लखन मीणा और फिरोज को हथियार बेचने के लिये आये थे। इन दोनों को वे पूर्व में भी अनेक बार हथियार सप्लाई कर चुके हैं। सिंह ने बताया कि विश्वस्त सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक सीआईडी, सीबी, लक्ष्मण गौड के निर्देशन एवं राम सिंह उपनिरीक्षक के नेतृत्व में भरत सिंह उपनिरीक्षक, हैड कानि0 दुष्यन्त सिंह एवं जितेन्द्र सिंह, कानि0, सर्व शाहिद अली, हेमन्त, रामनिवास, शंकर, मदन लाल एवं चालक मुकेश की एक टीम गठित कर दो आरोपियों को महावीरजी रेल्वे स्टेशन के पास कजानीपुर मोड से मय 15 हथियारों एवं 20 कारतूसों सहित गिरफ्तार किया है। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध ने बताया कि दोनों आरोपियों के पास से बरामद अवैध हस्त निर्मित सभी पिस्टलों पर मैड इन स्पेन एवं यूएसए मुद्रित है, इनमें से कुछ पिस्टलों पर साईलेन्सर भी लगे हुए हैं। पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि मध्यप्रदेश के जिला धार में सिकलीगर जाति के जरायम पेशा के लोग रहते हैं, जिनका शुरू से मुख्य पेशा अवैध हथियारों के निर्माण एवं सप्लाई कर आजीविका कमाना रहा है। उन्होंने बताया कि आरोपियों का मुख्य सरगना बल्लू सरदार है। अब इनके सरगना बल्लू सरदार को गिरफ्तार करने के लिए टीमें रवाना कर दी गई है एवं पूर्व में राज्य में जिन व्यक्तियों को इस गिरोह ने हथियार उपलब्ध कराये हैं, उन लोगों की पहचान कर गिरफ्तारी हेतु दबीश दी जा रही है। उन्होंने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उनका मुख्य सरगना पार्टी से खुद ही सम्पर्क करता है तथा लेनदेन भी तय करता है, उन्हें केवल उस क्षेत्र की जानकारी दी जाती है, जहां हथियार सप्लाई करने होते हैं। मुख्य सरगना गंधवानी के अनपढ भोले भाले लोगों को रूपयों का लालच देकर हथियार तस्करी के कामों में लगाता है। ये लोग अधिकतर रात्रि में ट्रेन द्वारा ही हथियार देने जाते है, डिलीवरी देते ही अपने स्थान पर वापस लौट जाते है। उल्लेखनीय है कि राज्य अपराध शाखा की विशेष टीम ने गत वर्ष भी करौली जिले के महावीरजी थाना क्षेत्र से स्थानीय सिकलीगर जाति के एक आरोपी को गिरफ्तार कर उससे 10 अवैध हथियार बरामद किये थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *