वाहन निर्माता कंपनियों ने चेताया, ट्रंप के इस फैसले से खत्म होंगी लाखों नौकरियां

वाशिंगटन। दो बड़ी ऑटो ट्रेड समूह ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन को कहा कि आयतित वाहनों पर 25 प्रतिशत टैक्स लगाने से ऑटो जगत की लाखों नौकरियों पर संकट के बादल छा जाएंगे। साथ ही इससे वाहनों की कीमत में भी बढ़ोतरी होगी। टोयोटा मोटर कॉर्प, वोक्सवैगन एजी (ङ्कह्रङ्खत्र_श्च.ष्ठश्व), बीएमडब्ल्यू एजी और हुंडई मोटर कंपनी समेत प्रमुख विदेशी वाहन निर्माताओं का प्रतिनिधित्व करने वाले एक गठबंधन ने कहा कि टैक्स ऑटोमोबाइल बनाने वाली कंपनियों और अमेरिकी उपभोक्ताओं को नुकसान पहुंचाएंगे। मई में प्रशासन ने जांच की थी कि क्या आयातित वाहन राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करते हैं और इसके बाद बार-बार राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टैक्स लगाए जाने की बात कही। प्रमुख विदेशी वाहन निर्माताओं के गठबंधन एसोसिएशन ऑफ ग्लोबल ऑटोमेकर्स ने कहा कि, ऐसे टैक्स लगाने से अमेरिकी उपभोक्ताओं के लिए वाहन विकल्प सीमित हो जाएंगे और वाहन उत्पादन और ब्रिक्री कम होगी। साथ ही नई नौकरियों आने की जगह लाखों अमेरिकी नौकरियां खत्म करनी पड़ेगी, जो कि कारों के निर्माण और ब्रिक्री तथा ऑटो पार्ट्स बनाने में शामिल हैं।शुक्रवार को ट्रंप ने यूरोपियन यूनियन में संकलित होने वाली कारों के आयात पर 20 प्रतिशत टैक्स लगाने की बात कही। मंगलवार को डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि ये टैक्स जल्द ही लगाए जाएंगे।गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ट्रंप ने 50 अरब डॉलर के चीनी सामान पर 25 फीसदी आयात शुल्क लगाने का ऐलान किया था। चीन ने प्रतिक्रियास्वरूप कहा था कि वह भी अमेरिका के 50 अरब डॉलर के 659 सामान पर समान शुल्क लगाएगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *