जनता का मूड देखकर बदलेंगे सीट-सैनी

 

श्रीगंगानगर, 17 फरवरी (का.सं.)। केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा है कि विप दलों द्वारा लोकसभा चुनाव के मद्देनजर गठित किए जा रहे महागठबंधन में राहुल गांधी को लेकर संशय की स्थिति है। महागठबंधन में राहुल गांधी को लेकर सहमति नहीं बन पा रही। राहुल गांधी को महागठबंधन में शामिल हो रहे विप दल अपना नेता नहीं मानते। अर्जुन राम मेघवाल रविवार को हनुमानगढ़ जिले में रावतसर में आयोजित भाजपा के शक्ति केंद्र संयोजको के सम्मेलन में संबोधित कर रहे थे। अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि फिर भी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद को लेकर नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी में ही संघर्ष होने की संभावना है। अर्जुनराम मेघवाल ने कहा महागठबंधन राहुल गांधी को नेता नहीं मानता है। ऐसे में भाजपा कार्यकर्ताओं को लोगों के बीच जाकर यह पूछना चाहिए कि आने वाले लोकसभा चुनाव में उन्हें नरेंद्र मोदी जैसा मजबूत प्रधानमंत्री चाहिए या फिर राहुल गांधी।लोगों को यह बात समझानी होगी की नरेंद्र मोदी ही सशक्त प्रधानमंत्री हैं। उन्हें एक मौका और दिया जाना चाहिए। मेघवाल ने कहा कि प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने से भाजपा को फायदा ही होगा।इस संदर्भ में उत्तर प्रदेश की राजनीतिक स्थिति का जिक्र करते हुए अर्जुनराम ने कहा कि प्रियंका गांधी के आने से इस राज्य में त्रिकोणीय मुकाबले की स्थिति बन गई है। इसमें भाजपा आगे रहेगी। मेघवाल ने दावा किया कि लोकसभा चुनाव में भाजपा बंगाल में 42 में से 15 और उत्तर प्रदेश में 70 सीटें जीतेगी। उड़ीसा में भी भाजपा को बड़ी जीत हासिल होगी। सम्मेलन में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने कहा कि वर्तमान में देश संक्रमण काल से गुजर रहा है। हमें सबको साथ लेकर चलना होगा। सैनी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में बूथ स्तर पर कड़ी मेहनत करनी होगी। भले ही विधानसभा चुनाव में हम पिछड़ गए हों लेकिन लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को वापस लाना है। सैनी ने महाभारत के कतिपय प्रसंगों का अपने उद्बोधन में समावेश करते हुए कहा कि इसके संदेशों को कार्यकर्ताओं को आत्मसात करना चाहिए। उन्होंने पार्टी द्वारा लोकसभा चुनाव जीतने के लिए बनाई गई 23 बिंदुओं की रणनीति विस्तारपूर्वक कार्यकर्ताओं को समझाइ। साथ ही कहा कि बिना मेहनत किए सफलता नहीं मिलेगी। सैनी ने बताया कि आगामी 26 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चूरू में जिले में शक्ति सम्मेलन को संबोधित करने आ रहे हैं। इस सम्मेलन में नरेंद्र मोदी कार्यकर्ताओं में जोश भरेंगे। चूरू की धरती से फैसला होगा कि देश में अगला प्रधानमंत्री कौन बनेगा। सम्मेलन में पूर्व मंत्री राजेंद्रसिंह राठौड़ ने कहा कि विधानसभा चुनाव के परिणाम बताते हैं कि हम प्रदेश में कांग्रेस के मुकाबले सिर्फ आधा प्रतिशत मतों से पिछड़े हैं। प्रदेश में 50 हजार मतदान केंद्र हैं। अगर हिसाब लगाया जाए तो भाजपा को प्रत्येक बूथ पर सिर्फ 3 वोट मिले हैं। मात्र 200 व्यक्तियों में से एक व्यक्ति का ही मन बदला है। उन्होंने लोकसभा चुनाव में भाजपा की वापसी होने का दावा किया।राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस ने जनता के साथ ठगी करके सत्ता की प्राप्ति की है। भाजपा की पिछली सरकार किसानों का 99000 का करोड़ का कर्जा माफ किया जबकि कांग्रेस ने इसे घटाकर सिर्फ 15000 करोड़ कर दिया है। इससे पूर्व संवाददाताओं से बातचीत करते हुए प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में वर्तमान सांसदों का निर्वाचन क्षेत्र बदलना जनता के मूड पर निर्भर करेगा। जनता बदलाव चाहेगी या नहीं उसी के अनुरूप ही टिकटों को बदला जाएगा। सम्मेलन में गंगानगर,बीकानेर और चूरू जिलों के भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने शिरकत की।सांसद निहालचंद मेघवाल, राहुल कस्वां, विधायक धर्मेंद्र मोची, गुरदीप शाहपीनी, पूर्व विधायक अभिषेक मटोरिया, पूर्व मंत्री सुरेंद्रपालसिंह टीटी, गंगानगर भाजपा के जिला अध्यक्ष हरिसिंह कामरा, हनुमानगढ़ भाजपा जिला अध्यक्ष बलबीर बिश्नोई, भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक सैनी ने भी विचार व्यक्त किए। इस सम्मेलन को सफल बनाने में भाजपा के प्रदेश महामंत्री कैलाश मेघवाल और उनकी टीम का बड़ा योगदान रहा। सम्मेलन में लगभग 2000 पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *