बच्चे मैदानों पर बिताए कुछ घंटे : डॉ. रघु शर्मा

 

राजस्थान को निरोगी बनाने के लिए मोबाइल का कम इस्तेमाल करें

जयपुर, 20 दिसंबर (कासं.)। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आज के दौर के बच्चे मोबाइल और कंप्यूटर का ज्यादा इस्तेमाल करने से खेल के मैदानों से दूर होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान को निरोगी बनाने के लिए जरूरी है बच्चे 24 घंटों में से एक-दो घंटे निकालकर एक्सरसाइज करें या किसी भी खेल का हिस्सा जरूर बनें। डॉ. शर्मा शुक्रवार को महात्मा ज्योति राव फुले विश्वविद्यालय में आयोजित वेस्ट जोन वुमंस टेबल-टेनिस टूर्नामेंट-2019 के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। बच्चे खूब खेलें और खूब पढ़ें तभी परिवार, समाज और प्रदेश उन्नति कर सकता है। उन्होंने कहा कि मोबाइल को छोड़कर बच्चे मैदानों में आने लगे तो लाइफ स्टाइल की बीमारियां जैसे मोटापा, डायबिटीज, ब्ल्डप्रेशर दूर ही रहेंगी। उन्होंने सभी महिला प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाएं राजनीति से लेकर अंतरीक्ष हर क्षेत्र में अपनी जगह बना रही हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे टूर्नामेंट्स से न केवल संस्कृति का बेहतर आदान-प्रदान होता है बल्कि कुछ नया सीखने को भी मिलता है। शिक्षा सचिव भास्कर ए. सावंत ने कहा कि खेलों से स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का विकास होता है। सभी खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करें और अच्छी यादें भी लेकर जाएं। विश्वविद्यालय के चांसलर निर्मल पंवार ने बताया कि प्रदेश में पहली बार इतना बड़े टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें 70 महिला विश्वविद्यालयों की टीमें हिस्सा ले रही हैं। उन्होंने ‘निरोगी राजस्थान अभियान को ऐतिहासिक पहल बताते हुए कहा कि इससे आने वाले समय में अच्छे खिलाड़ी प्रदेश को मिलेंगे। इस अवसर पर पैरा एथलीट सुशताब्दी अवस्थी और स्क्वैश चैंपियन सुरभि मिश्रा सहित कई खिलाड़ी उपस्थित रहे।
स्वास्थ्य मंत्री ने आजमाए टीटी में हाथ : टूर्नामेंट में उद्घाटन के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टेबल टेनिस के प्रति अपना प्रेम छिपा नहीं पाए। पहले उन्होंने शिक्षा सचिव भास्कर ए. सावंत के साथ कुछ देर टेबल टेनिस खेली उसके बाद नेशनल खिलाडिय़ों के साथ हाथ आमजाया। करीब आधा घंटा डॉ. रघु शर्मा टीटी खेलते रहे। उन्होंने कहा कि टेबल टेनिस कॉलेज के समय से ही मेरा पंसदीदा गेम रहा है। रैकिट हाथ में आते ही खुदको रोकना मुश्किल है। गौरतलब है कि डॉ. रघु शर्मा कॉलेज के जमाने के अच्छे टीटी प्लेयर रहे हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *