सहकारिता के धौलपुर मॉडल को पूरे राज्य में लागू किया जाएगा – मुख्यमंत्री

 Vasundhara Raje said that women self-help

जयपुर, 26 दिसम्बर (का.स.)। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि धौलपुर में महिला स्वयं सहायता समूहों ने सहकारिता से जुड़कर रोजगार संवर्धन और महिला सशक्तिकरण की दिशा में उल्लेखनीय कार्य किया है। धौलपुर मॉडल को राज्य के दूसरे जिलों में लागू करने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे। राजे ने यह बात मंगलवार को धौलपुर शहर में संचालित सहेली बाजार का अवलोकन करने के बाद कही। उन्होंने कहा कि सहेली समिति के साथ महिला किसान समूहों का ज्वाइन्ट वेंचर स्थापित करने के संबंध में कार्य योजना तैयार की जाए ताकि विपणन में आसानी हो। धौलपुर शहर में स्थित इस बाजार का संचालन सहेली सर्वांगीण महिला विकास सहकारी समिति लि. द्वारा किया जा रहा है। राजे ने बाजार में प्रदर्शित उत्पाद, उनकी कीमत, बिक्री, विपणन रणनीति आदि के बारे में जानकारी ली। उन्होंने समिति पदाधिकारियों से पूछा कि सहकारिता से जुडऩे के बाद क्या परिवर्तन आया तथा अन्य जिलों में इस अभिनव पहल को कैसे लागू किया जा सकता है। राजे ने कड़ी प्रतिस्पर्धा के इस दौर में वाजिब दामों पर उच्च गुणवत्ता के उत्पाद बेचने तथा ग्रामीण महिलाओं को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध करवाने के लिए समिति की प्रशंषा की। उन्होंने समिति की पदाधिकारियों से कहा कि जिले के डेयरी उद्योग को आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार के साथ काम करें। मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टर शुचि त्यागी को समिति की चुनिंदा पदाधिकारियों को बनास डेयरी, पालनपुर और हिंगोनिया गौशाला, जयपुर का दौरा करवाने के निर्देश दिए जिससे वहां के मॉडल का अध्ययन कर उन्हें स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप लागू कर सकें। राजे ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि सहकारिता से जुडी महिला किसानों को खेती व उद्यम के लिए ऋण दिलवाने की प्रक्रिया की व्यक्तिगत निगरानी करें तथा बैंक शाखाओं को इस सम्बन्ध में और अधिक संवेदनशील एवं प्रोएक्टिव बनाएं। मुख्यमंत्री मंगलवार को धौलपुर शहर में सराय गजरा रोड़ स्थित एस. बी. फुटवीयर का अवलोकन किया। राजे ने इस दौरान धौलपुर में चमड़ा फुटवीयर उद्योग को विकसित करने की संभावनाओं पर दुकानदारों, कारखाना मालिकों तथा कामगारों से विस्तृत चर्चा की।राजे ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग के प्रमुख शासन सचिव व राजस्थान हैण्डलूम कॉर्पोरेशन के चैयरमेन डॉ. सुबोध अग्रवाल से मोबाइल पर बात की और निर्देश दिए कि धौलपुर के चमड़ा फुटवीयर व्यवसाय से जुड़े कारखाना मालिकों, दुकानदारों और कारीगरों के साथ बैठकर बेहतर विपणन की कार्य योजना बनायें। उन्होंने जिला कलेक्टर शुचि त्यागी से कहा कि चमड़ा उत्पादों को सहेली बाजार जैसा विपणन मंच उपलब्ध करवाने की सम्भावनाएं तलाशी जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *