झारखंड में 45 लाख टन क्षमता का नया स्टील प्लांट लगाएगी वेदांता

 

कोलकाता। वेदांता लिमिटेड ने झारखंड में 45 लाख टन क्षमता का इस्पात कारखाना लगाएगी। कंपनी इस संयंत्र पर तीन-चार अरब डॉलर (21000 से 28000 करोड़ रुपये) का निवेश करेगी। वेदांता रिसोर्सेज के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने मंगलवार को यह जानकारी दी।उन्होंने कहा कि इस संयंत्र की स्थापना हाल में अधिग्रहीत इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स लिमिटेड (ईएसएल) के तहत की जाएगी। अग्रवाल ने कहा कि नया इस्पात संयंत्र ईएसएल की पुरानी जमीन पर ही होगा। इसलिए यह पुरानी परियोजना में निवेश होगा। नए संयंत्र में करीब 45 लाख टन की क्षमता के लिए तीन-चार अरब डॉलर के निवेश की संभावना है।इसके अलावा वेदांता शुरुआत में ईएसएल की 15 लाख टन की क्षमता को बढ़ाकर 25 लाख टन करने के लिए 30 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी। उन्होंने कहा कि नए संयंत्र के शुरू होने के बाद ईएसएल की कुल क्षमता 70 लाख टन हो जाएगी।हालांकि, अग्रवाल ने इसके लिए कोई समय सीमा नहीं बताई। अग्रवाल ने कहा कि नए संयंत्र से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 120,000 रोजगार पैदा होंगे। अग्रवाल ने कहा कि हमारे पास ईएसएल में 2,200 एकड़ जमीन है। हम और जमीन की तलाश में हैं।इस मामले में झारखंड सरकार का काफी सहयोग मिल रहा है। इस साल मार्च में वेदांता ने ईएसएल को दिवालिया प्रक्रिया के तहत बोली लगाकर ईएसएल का अधिग्र्रहण किया था। कंपनी ने ईएसएल का अधिग्रहण कर नए निदेशक मंडल की नियुक्ति की थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *