अभिनय से अलग भी मेरी जिंदगी है- विद्या बालन

दिए साक्षात्कार में विद्या ने कहा, ‘मैंने काफी स्टारडम देखा है। मैंने स्टारडम से मिलनेवाली चीजों का आनंद भी उठाया है। लेकिन अंत में अभिनय एक काम है और मेरी हरसंभव कोशिश रहती है कि मैं इसे बेहतरीन तरीके से करूं।’ उन्होंने कहा, ‘सिद्धार्थ (विद्या बालन के पति सिद्धार्थ रॉय कपूर) अभिनेता नहीं हैं। मैं उनके बारे में वैसे नहीं बात कर सकती हूं, जिस तरह मैं खुद के बारे में बात कर सकती हूं। मुझे उनकी निजता का सम्मान करने की जरूरत है। ठीक इसी तरह मेरे परिवार के लोग कलाकार नहीं है। वह लोग सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आते हैं।’ बॉलीवुड में साल 2005 में ‘परिणीता’ फिल्म से अपने करियर की शुरूआत करने वाली विद्या बालन को इस फिल्म के बाद लगातार फिल्में मिलती रहीं।अभिनेत्री का कहना है कि उन्होंने बाद में फिल्मों के लिए हामी भरना कम कर दिया क्योंकि उन्हें लगने लगा था कि फिल्में करने के अलावा भी जिंदगी है। अभिनेत्री ने कहा, ‘मैं सिर्फ फिल्मों के लिए जिंदा नहीं रहना चाहती हूं। इससे आगे भी मेरी जिंदगी है। जब मैं शूटिंग नहीं कर रही होती हूं तो मैं अपने में ही रहना चाहती हूं। मुझे ऐसा महसूस नहीं होता है कि सार्वजनिक मंचो पर आना आवश्यक है। मैं अब भी रविवार को बाहर नहीं जाती हूं। कैमरे के अलावा जीवन जीना मेरे लिए बहुत जरूरी है क्योंकि इन्हीं अनुभवों से मैं अपने किरदारों को बनाती हूं।’ विद्या को बॉलीवुड में बड़ी कामयाबी हासिल करने में काफी संघर्षों का सामना करना पड़ा था और अभिनेत्री मानती हैं कि उनका संघर्ष अब भी संघर्ष जारी है। हालांकि अभिनेत्री मानती हैं कि अब संघर्ष अलग किस्म का हो गया है क्योंकि अब उनकी सफलता और विफलता की खबरें लोगों के बीच होती हैं। विद्या ने कहा, ‘संघर्ष जीवन का हिस्सा है। शुरूआत में संघर्ष यह था कि मैं शायद कभी अभिनेत्री न बन पाऊं या एक कुंठित कलाकार के तौर पर मर जाऊं। लेकिन अब संघर्ष सार्वजनिक है।’ अभिनेत्री अब सुरेश त्रिवेणी की फिल्म तुम्हारी सुलु में दिखने वाली हैं। इस फिल्म में मानव कौल और नेहा धूपिया हैं। यह फिल्म 17 नवंबर को रिलीज होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *