अब मैं बेशर्म हो गई हूं,डरती-घबराती नहीं हूं विद्या बालन

बॉलिवुड अभिनेत्री विद्या बालन इन दिनों अपनी रिलीज़ हुई फिल्म तुम्हारी सुलु के प्रमोशन के लिए देश भर के कई शहरों का दौरा कर रही हैं। फिल्म के प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान विद्या ने खास बातचीत में लगातार असफल हो रही अपनी फिल्मों के बारे में बात की। फिल्म डर्टी पिक्चर और कहानी के बाद विद्या की जो भी फिल्में आई उनमें से कोई भी बॉक्स ऑफिस पर टिक नहीं पाई। घनचक्कर, शादी के साइडइफेक्ट्स, बॉबी जासूस, हमारी अधूरी कहानी, तीन, कहानी 2 और बेगम जान जैसी फिल्मों का बॉक्स ऑफिस पर धुंआ निकल गया। लगातार असफल फिल्मों के बोझ तले दबी विद्या बेहद ईमानदारी से कहती हैं, यार 7-8 फिल्में मत बोलो, मेरी सिर्फ पांच फिल्में नहीं चली हैं। देखिए शुरू-शुरू में जब मेरी फिल्में लगातार असफल हो रही थी और नहीं चलती थी… तो बहुत दु:ख होता था। (थोड़ा रुककर, फिर जोर से ठहाका लगाते हुए आगे कहती हैं) बाद में इस

दु:ख को झेलने की मेरी आदत हो गई… हा हा हा। वह कहते हैं न निर्लज्ज्म सदा सुखी अब ऐसा लगता है कि बेशर्म होना हमेशा सुखी होना होता है। विद्या आगे कहती हैं, फिल्म फ्लॉप होने से मुझे कभी भी डर और नर्वसनेस की फीलिंग नहीं होती है। देखिए मैं एक ऐक्टर हूं जब तक मेरे पास काम रहेगा मैं काम करती रहूंगी। मैं मजे लेकर काम करूंगी। मुझे लगता है हमने बहुत अच्छी फिल्में बनाई हैं। मेरी अगली फिल्म तुम्हारी सुलु बहुत अच्छी फिल्म है और इसलिए मैं बेहद सुकून महसूस कर रही हूं। तुम्हारी सुलु में विद्या एक रेडियो जॉकी (आरजे) सुलोचना के रूप में दिखाई देंगी, जिन्हें प्यार से सुलु नाम से जाना जाता है। सुरेश त्रिवेणी के निर्देशन में बन रही इस फिल्म की कहानी सुलोचना नामक एक महिला के ईद-गिर्द घूमती है जिसका शॉर्ट नाम सुलु है। वह आरजे है और अपने सहयोगी ऐंकर के साथ देर रात प्रसारित होने वाले एक कार्यक्रम को होस्ट करती है। विद्या के साथ इस फिल्म में नेहा धूपिया और मलिश्का भी नजर आएंगी। नेहा फिल्म में एक रेडियो स्टेशन की बॉस की भूमिका में नजर आएंगी, जो विद्या को आर.जे. बनने का मौका देती हैं।
विद्या बालन को कोई जल्दी नहीं है अपनी ऑटोबायोग्राफी की : विद्या बालन इन दिनों जगह-जगह घूम रही हैं। कारण है उनकी फिल्म तुम्हारी सुलु इस हफ़्ते रिलीज़ हुई जिसका प्रमोशन जरूरी था। इस दौरान उनकी ऑटोबायोग्राफी को लेकर सवाल किया जाता रहा है जिस पर विद्या की अपनी अलग ही राय है। एक बातचीत में विद्या ने बताया कि उन्हें आत्मकथा लिखने की कोई जल्दी नहीं है। विद्या बालन कहती हैं अभी बहुत से अनुभव बटोरने हैं। बहुत जि़ंदगी गुज़ारना है। मैं उसे लिखूं उससे पहले मुझे बहुत सारे काम भी करने हैं। फि़लहाल मेरा आत्मकथा लिखने का कोई इरादा नहीं है।इस मौके पर जब विद्या बालन से यह पूछा गया कि उनकी पिछली कुछ फिल्में फ्लॉप रही या आशा के अनुरूप नहीं चली हैं, इस पर उन्हें क्या लगता है कि ऐसा क्यों हुआ, विद्या बालन ने बताया कि जो बीत गया उनकी क्या बात करनी। पिछला मैंने पीछे छोड़ दिया है। मैं सिर्फ आगे की बात सोचती हूँ। मुझे लगता है कि उम्मीद पर दुनिया कायम है और मैं भी ऐसा मानती हूं। विद्या ने कहा कि फिल्म तुम्हारी सुलु के लिए किया गया काम मेरे लिए बहुत ख़ास रहा है और मैं इसे एक अनोखी उपलब्धि मानती हूं। सुरेश त्रिवेणी निर्देशित फिल्म तुम्हारी सुलु एक घरेलू महिला की कहानी है जिसे रात के शो में रेडियो जॉकी की नौकरी मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *