दिव्यांगों में प्रतिभा की कमी नही- रवि जैन

दो दिवसीय अखिल भारतीय दृष्टिबाधित महिला संगीत प्रतियोगिता रंगारंग आगाज

जयपुर, 29 सितंबर (का.सं.)। दृष्टि दिव्यांगों की आंखों में भले ही रोशनी न हो, पर हौसलों की उड़ान और आगे बढऩे का जज्बा किसी से कम नही है। यदि इन्हें अवसर प्रदान किया जाए तो इनकी प्रतिभा को पंख लग सकते हैं। यह कहना है जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन का। जैन शनिवार को लुई ब्रेल दृष्टिहीन विकास संस्थान द्वारा आयोजित दो दिवसीय अखिल भारतीय दृष्टिबाधित महिला संगीत प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में अपने उद्गार व्यक्त कर रहे थे। जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन ने कहा कि जिनके हौसले बुलंद होते हैं, वही जीवन में बाजी मारते हैं। जैन ने जाने-माने दृष्टिबाधित संगीतज्ञ रविन्द्र जैन का उदाहरण देते हुए कहा कि वे ऐसी शख्सियत थे, जिन्होंने दुनिया में संगीत के क्षेत्र में विशेष पहचान बनाई थी। सूचना आयुक्त ने समारोह की सफलता की शुभकामना देते हुए हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन एवं अन्य अतिथियों ने इस अवसर ने दृष्टि सुर सरिता 2018 स्मारिका का विमोचन किया। जनसंपर्क आयुक्त ने मधुवन खुशबू देता है… और सुबह न आए शाम न आए… गीत गाकर लोगों की वाहवाही लूटी। समारोह के अध्यक्ष रील के प्रबंध निदेशक ए.के. जैन ने कहा कि दिव्यांगों ने अपनी प्रतिभा से हर क्षेत्र में अपनी योग्यता का प्रदर्शन किया है। यदि इन्हें अवसर दिए जाएं तो वे बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। संस्थान अध्यक्ष पी.सी.जैन ने प्रतियोगिता की जानकारी देते हुए अतिथियों एवं देशभर से आई दृष्टिबाधित महिला प्रतिभागियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि दृष्टि दिव्यांगों ने अपनी प्रतिभा की मदद से हर क्षेत्र में परचम लहराया है। इस अवसर पर दृष्टिहीन बालिकाओं ने सरस्वती वंदन एवं स्वागत गीत की लाजवाब प्रस्तुति देकर समां बांध दिया। उल्लेखनीय है कि इस दो दिवसीय अखिल भारतीय दृष्टिबाधित महिला संगीत प्रतियोगिता में देशभर से आई 85 दृष्टिहीन महिलाएं भाग ले रही हैं। प्रतियोगिता का समापन रविवार को पुरस्कार वितरण समारोह के साथ होगा। पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि कला एवं संस्कृति विभाग के प्रमुख शासन सचिव कुलदीप रांका होंगे। इस दौरान मशहूर गजल गायक उस्ताद अहमद हुसैन एवं उस्ताद मो. हुसैन द्वारा विशेष प्रस्तुति दी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *