मतदाता जागरूकता के लिए वागड़ी गीत की हुई रिकार्डिंग

बांसवाड़ा, 14 अप्रैल (एजेन्सी)। जनजाति बहुल राज्य के दक्षिणांचल बांसवाड़ा जिले के मतदाताओं को स्थानीय ‘वागड़ी बोली में मतदान की मनुहार की जा रही है। जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा इसके लिए जहां एक ओर वागड़ी वेशभूषा वाले कार्टून करेक्टर ‘गोटियो से वोटर्स को लुभाया जा रहा है वहीं वागड़ी बोली के गीतों की रिकार्डिंग भी की जा रही है। रविवार को इसी श्रृंखला में वागड़ी बोली के एक नए गीत की रिकार्डिंग की गई। जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) आशीष गुप्ता ने बताया कि मीडिया तथा स्वीप प्रकोष्ठ की पहल पर रविवार को ”व्हालो गोटियो घेर-घेर आवे, हंगरा वोटर ने हमझ़ावे, के सालो वोट नाकवा रे शीर्षक वाले इस आह्वान गीत की रिकार्डिंग गीतकार सतीश आचार्य के निर्देशन में की गई। गीत में स्वर बांसवाड़ा के ख्यातनाम युवा गायक हेमांग जोशी ने दिए हैं जबकि तकनीकी निर्देशन अभय कंसारा ने किया है। गीत का लेखन मीडिया प्रकोष्ठ के कवि व गीतकार महेश पंचाल ‘माही ने किया है। पूरी तरह वागड़ी में लिखा यह गीत राजस्थान के प्रसिद्ध गीत ‘काल्यो कूद पड्यो मेला में….. की तर्ज पर गाया गया है और इसमें अलग-अलग पंक्तियों में मतदान को लोकतंत्र की पुकार बताते हुए वर-वधू को लोकतंत्र का उत्सव मनाने, दूसरे गांव वालों को बुलाने, भारत का श्रृंगार करने के लिए मतदान करने के लिए बुलाया जा रहा है। रिकार्डिंग के बाद इस गीत को सोशल मीडिया के माध्यम से गांव-गांव, ढाणी-ढाणी के मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए वायरल किया जाएगा। इसके साथ ही इसे स्वीप रथों, मतदाता जागरूकता के लिए आयोजित होने वाले विभिन्न आयोजनों में बजाया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *