नई स्टडी: हार्ट को हेल्दी रखने के लिए काफी है वॉकिंग और साइकिलिंग

हार्ट से जुड़ी बीमारियां बेहद घातक मानी जाती हैं। इनसे दूर रहने के कई उपाय सुझाए जाते हैं, लेकिन ताजा अध्ययन में खुलासा हुआ है कि नियमित वॉकिंग और थोड़ी देर की साइकिलिंग हार्ट को स्वस्थ्य रखने के लिए काफी है। इससे न केवल हार्ट, बल्कि शरीर के अन्य अंगों की भी एक्सरसाइज होती है। यूरोपियन जर्नल ऑफ प्रिवेंटिव कार्डियोलॉजी में प्रकाशित इस अध्ययन के अनुसार, जिन परिवारों में पैदल चलने और साइकिलिंग करने की आदत है, वहां महिलाओं और पुरुषों, दोनों में हार्ट अटैक के मामले कम होते हैं। अध्ययन का हिस्सा रहे ब्रिटेन के ओलिंपिक पदक विजेता एलिस्टेयर ब्राउनली के अनुसार, यूनिवर्सिटी ऑफ लीड्स में हमारे अध्ययन से पता चलता है कि लोग ऑफिस आने-जाने के लिए किस साधन का इस्तेमाल करते हैं, इसका असर भी उनकी सेहत पर पड़ता है। जो लोग साइकिल से या चहलकदमी करते हुए ऑफिस आते हैं, उनका हार्ट सेहतमंद पाया गया है। नियमित व्यायाम के कई लाभ हैं और यही कारण है कि हम सभी को सक्रिय रहने के लिए प्रेरित करते हैं। शोधकर्ताओं ने पाया कि हृदय रोग के लिए बड़े जोखिम हैं – व्यायाम की कमी, अधिक वजन, धूम्रपान और डायबिटीज।
पैदल चलने के फायदे-
डॉ. मेधावी अग्रवाल के अनुसार, वॉकिंग कई बीमारी को दूर करती हैं। यूं तो पूरे शरीर को इसका फायदा मिलता है, लेकिन जोड़ों के दर्द, हार्ट संबंधी कोई भी समस्या, तनाव, अवसाद, मोटापे में यह बहुत कारगर है। नियमित रूप से पैदल चलने से पुरानी बीमारियों को भी दूर किया जा सकता है। यहां तक कि इसके कैंसर की आशंकाओ को भी दूर किया जा सकता है। अधिकांश हेल्थ प्रोफेशनल्स मानते हैं कि दौडऩे के बजाए पैदल चलना हार्ट और जोड़ों के लिए ज्यादा फायदेमंद है। यह मानना भी गलत है कि तेज चलने से ही फायदा होता है। हर व्यक्ति की शारीरिक क्षमता और जरूरत अलग होती है। इसलिए चाहे धीमे चलें या तेज, दोनों ही स्थितियां फायदेमंद हैं।
साइकिलिंग करने के फायदे-डॉ. अग्रवाल बताती हैं कि साइकिल चलाने से मांसपेशियों की टोनिंग होती है। उनमें मजबूती आती है। साइकिलिंग में पैरों और हाथों का इस्तेमाल ज्यादा होता है, लेकिन वास्तव में इसका फायदा पूरे शरीर को मिलता है। जो बच्चे साइकिलिंग करते हैं, उनकी हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इससे डायबिटीज को भी कंट्रोल किया जा सकता है। साइकिलिंग केवल शारीरिक नहीं, बल्कि दिमाग की सेहत के लिए फायदेमंद है, क्योंकि इसे चलाने से इन्सान का मनोरंजन भी होता है। गठिया रोग से छुटकारा पाने में साइकिलिंग फायदेमंद है। साइकिल चलाने में जांघों और निचले पैरों की मांसपेशियों का उपयोग होता है। उनकी फ्लेक्सिंग गठिया को नियंत्रित करने में फायदेमंद है। साइकिलिंग वजन कम करने का आसान तरीका है। यदि कोई व्यक्ति 10 मील प्रति घंटे की गति से साइकिल चलाता है तो वह एक घंटे में 260 कैलोरी खर्च करता है। साइकिलिंग शरीर में स्टैमिना को बढ़ाने में मदद करती है। इससे ऊर्जा मिलती है और हर तरह का काम करने में व्यक्ति का मन लगता है। साइकिलिंग को रिलीजिंग एक्सरसाइज माना जाता है। रिलीजिंग एक्सरसाइज शारीरिक और मानसिक रूप से राहत देती है। इससे तनाव, टेंशन और दर्द से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *