ट्रेडर्स को वॉलमार्ट का डर, हड़ताल पर जाने की तैयारी

नई दिल्ली। देश के लाखों परिवारों को प्रभावित करने वाली वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील का विरोध कर रहे व्यापारियों और छोटे कारोबारियों ने आने वाले हफ्तों में देशव्यापी हड़ताल की चेतावनी दी है। छोटे और मछोले कारोबारियों को डर है कि वॉलमार्ट की भारत में एंट्री से उनकी कमाई कम हो जाएगी। अमेरिका की यह रिटेल कंपनी कंज्यूमर्स को कम कीमत पर सामान देकर बिजनस मार्जिन को बेहद कम कर देती है। पिछले महीने वॉलमार्ट ने बेंगलुरु बेस्ड फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी 16 अरब डॉलर में हासिल की। यह ई-कॉमर्स सेक्टर में दुनिया की सबसे बड़ी डील्स में से एक है। इसके बाद प्लैटफॉर्म पर मौजूद ट्रेडर्स, होलसेलर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स और सेलर्स ने भारतीय बाजार में अमेरिकी विशालकाय कंपनी की एंट्री का विरोध करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। भारत में सभी छोटे बिजनस का प्रतिनिधित्व करने वाली स्वतंत्र संस्था कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडस के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा, ई-कॉमर्स सेक्टर में रिफॉर्म्स के लिए हम पिछले पांच साल से सरकार का दरवाजा खटखटा रहे हैं, लेकिन अनसुना कर दिया गया। इससे उत्साहित होकर वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट को खरीदा और अप्रत्यक्ष रूप से रिटेल ट्रेड में उतर गया। उन्होंने कहा, यह सौदा ई-कॉमर्स समेत रिटेल सेक्टर का शोषण और नियंत्रण करने के लिए कानून से छेड़छाड़ पर आधारित है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *