अपने किराना स्टोर प्रोग्राम ‘मेरा किराना को बढ़ायेगी वालमार्ट

नई दिल्ली, 9 अगस्त(एजेन्सी)। पारिवारिक स्वामित्व वाले छोटे ग्रॉसरी स्टोर को आधुनिक बनने में मदद देने के लिए तथा अपने बी2बी होलसेल बिजऩेस को तीव्रता से बढ़ाने के लिए वालमार्ट इंडिया अपने किराना स्टोर प्रोग्राम ‘मेरा किराना को बढ़ाने की योजना बना रही है। वालमार्ट इंडिया बीते चार वर्षों से ‘मेरा किराना प्रोग्राम चला रही है और अब इसे अपने कारोबार की मुख्यधारा में लाना चाहती है। ‘मेरा किराना के अंतर्गत वालमार्ट बैस्ट प्राइस होलसेल स्टोर्स में ज़ोन बनाती है जिन्हें आधुनिक किराना स्टोर की तरह डिजाइन किया जाता है। ये ज़ोन मॉम-ऐंड-पॉप (किराना) स्टोर मालिकों के लिए बतौर मॉडल काम करते हैं, जिन्हें देखकर वर्गीकरण एवं क्रम व्यवस्था की जा सकती है। कंपनी अपनी टीमें भी किराना स्टोर पर भेजती है ताकि उनके साथ सीधे तौर पर काम किया जा सके। वालमार्ट इंडिया के इस वक्त 10 लाख सक्रिय ग्राहक हैं जिनमें से 70 प्रतिशत छोटे मॉम-ऐंड-पॉप या किराना स्टोर हैं। इनमें से अधिकांश स्टोर अभी तक तकनीक-सक्षम नहीं हैं और यहीं वालमार्ट इंडिया की भूमिका आरंभ होती है। वालमार्ट इंडिया न केवल छोटे रिटेलरों के साथ काम करके उन्हें अपने कारोबार का डिजिटलीकरण करने में मदद कर रही है बल्कि कुछ मामलों में निशुल्क हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर भी प्रदान कर रही है। प्रत्येक वालमार्ट स्टोर सदस्यों को बी2बी ईकॉमर्स सॉल्यूशन (ऑनलाइन या मोबाइल ऐप द्वारा) मुहैया करता है तथा फोन पर या किराना रिलेशनशिप मैनेजरों के जरिए ऑर्डर स्वीकार करता है। छोटे मॉम-ऐंड-पॉप स्टोर्स तक पहुंचने के प्रयास में वालमार्ट इंडिया भारत में फुलफिलमेंट सेंटर्स खोल रही है। ये सेंटर्स उन वेयरहाउसों में होंगे जिन्हें थर्ड-पार्टी लॉजिस्टिक्स फर्मों द्वारा संचालित किया जाता है तथा इनका उपयोग वालमार्ट आसपास स्थित किराना स्टोर्स को सेवाएं देने में करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *