अच्छी नींद चाहिए तो करें कुछ खास उपाय

दिनभर की थकान के बाद हम रात को चैन और सुकून की नींद लेना चाहते हैं। हम बिस्तर पर इस उम्मीद से लेटते हैं कि अब अपने शरीर को थोड़ा आराम दें, ताकि अगले दिन फिर नई ऊर्जा के साथ जीवन की भागदौड़ में जुट सकें। मगर आपके दिमाग में चक्कर लगा रही सोच, चिंताएं और विचार आपको रात में ठीक से नींद नहीं आने देते। कई बार नींद न आने की समस्या इतनी गंभीर हो जाती है कि यह हमारी मानसिक सेहत को प्रभावित कर सकती है। ऐसे में अगर आप भी नींद से संबंधित ऐसी ही किसी समस्या से जूझ रहे हैं तो कुछ उपाय जरूर अपनाएं।

सोने का कमरा हो अलग- आप जिस कमरे में सोते हों, उसे केवल सोने का कमरा ही रखें, उसे स्टडी या टी.वी. रूम न बनाएं। कमरे का तापमान मौसम के अनुकूल रखें। इस बात का ध्यान रखें कि सोने का कमरा शांत हो तथा उसमें धीमी रोशनी हो और खिड़कियों पर गहरे रंग के पर्दे हों, ताकि बाहर की रोशनी अंदर न आए। लैपटॉप, सेल फोन, टीवी, वीडियो गेम्स आदि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और चमकीले पर्दों को बिस्तर पर जाने से कम से कम एक घंटा पहले हटा दें। ध्यान रहे कि फेसबुक, ट्िवटर, इंस्टाग्राम, ईमेल, टे्स्टिटंग और अन्य जिस किसी भी सोशल मीडिया केंद्र में आप भाग ले रहे हों, सोने से कम से कम एक घंटा पहले उन्हें छोड़ दें।

सही बिस्तर का करें चुनाव- हम अपने जीवन का करीब एक तिहाई हिस्सा सो कर गुजारते हैं, इसलिए बहुत जरूरी है कि अपने बिस्तर को उतनी ही अहमियत दी जाए, जितनी खानपान और पहनावे को दी जाती है। सही गद्दे की पहचान उस पर सिर्फ उछलकर नहीं होती। इसके लिए आपको तकनीकी मदद की जरूरत है। मध्यम श्रेणी के मुलायम गद्दे पर सोने का बहुत अधिक महत्व है। ज्यादा मुलायम गद्दे पर सोने से पीठ में दर्द और कमर दर्द की समस्याएं तो हो ही सकती हैं, ज्यादा मुलायम या ज्यादा कड़ा कठोर गद्दा आपकी रीढ़ के लिए अच्छा नहीं होता। यदि संभव हो तो गद्दे के निचले हिस्से को उठाएं, ताकि आपके पैर सिर के तल से छह इंच या एक फुट ऊपर उठे रहें। इसमें खून का बहाव हृदय की ओर होता है।

किताब पढ़ें या डायरी लिखें- किताब पढ़कर अथवा डायरी लिखकर आप अपने दिमाग का बोझ हटा सकते हैं। सोने से पहले थोड़ी देर के लिए कोई पसंद की पुस्तक चुनें और पढ़ें। डरावनी और गतिशील पुस्तकों से बचें, क्योंकि उनका उलटा प्रभाव पड़ सकता है और आपको बिस्तर पर डर के मारे रात जाग कर काटनी पड़ सकती है। यदि सोने का प्रयास करते हुए आप अपने दैनंदिन तनावों से जूझ रहे हैं तो एक डायरी लिख कर आप रिलैक्स हो सकते हैं। आप उस डायरी में दिन भर के अनुभव लिख डालें। इन सब को दिमाग से निकाल कर कागज पर लिख देने पर नींद आना आसान हो जाएगा।

ध्यान-योग का लें सहारा – हर रात सोने से पहले अपनी आंखें बंद कर कुछ देर ध्यान करें या शवासन, वज्रासन, भ्रामरी प्राणायाम आदि कर अनिद्रा की समस्या से छुटकारा पाएं। इसके अलावा आप गहरी नींद के लिए प्राचीन विधि का भी सहारा ले सकते हैं, जिसके तहत आप उबाने वाली ध्वनि निकालना शुरू करें। वह ध्वनि या शब्द किसी ऐसी भाषा के न हों, जिसे आप जानते हैं। केवल पहले के कुछ दिन आप थोड़ा मुश्किल महसूस करते हैं और यदि यह एक बार यह ध्वनि उठने लगी तो आपको अपना दिमाग शांत करने में आसानी होगी। केवल 15 मिनट में आपको अच्छी नींद आने लगेगी।

सोने से पहले सुनें संगीत- सोने से पहले लाइट म्यूजिक या क्लासिकल म्यूजिक सुनने से नींद अच्छी आती है। संगीत न सिर्फ अच्छी नींद के लिए फायदेमंद है, बल्कि इसकी मदद से किसी भी रोग के उपचार के दौरान राहत मिलती है। संगीत नर्वस सिस्टम व रक्त के प्रवाह को भी प्रभावित करता है। ठीक से नींद नहीं आती तो सोने से कुछ देर पहले सुगम संगीत या शास्त्रीय संगीत सुनें।
क्या कहते हैं विशेषज्ञ- डॉ. पारुल खुराना के मुताबिक अच्छी नींद और सुकून के बीच गहरा संबंध है। अच्छी नींद और स्वास्थ्य चिकित्सा के क्षेत्र में चल रहे शोध से यह सिद्ध हो चुका है कि भरपूर नींद शारीरिक, मानसिक स्वास्थ्य तथा सुंदरता के लिए बहुत जरूरी है। नींद हमें अपनी ऊर्जा को फिर से हासिल करने, दिमाग को तरोताजा रखने में मदद करती है। रात को सोने से पहले 20 मिनट की सैर, मन में शांति का भाव, सही मुद्रा में सोना, साफ-सफाई आदि बातों पर अवश्य ध्यान दें। अनिद्रा की समस्या के चलते नींद की गोलियां खाने की आदत बनी हुई है तो इस आदत को तुरंत बदलें। ध्यान रहे, अच्छी नींद आने से शरीर ऊर्जा, शक्ति और ताकत से भर जाता है और आप तरोताजा होकर नए दिन की शुरुआत जोश के साथ कर पाते हैं।

खान-पान का रखें ध्यान- आजकल स्वस्थ रहना किसी चुनौती से कम नहीं है। स्वस्थ जीवन के लिए जरूरी है कि अच्छे पोषण के साथ ही अच्छी नींद भी लें। अच्छी नींद लेने में चेरी काफी मदद कर सकती है। सोने से पहले एक मु_ी चेरी का सेवन अच्छी नींद लेने में मददगार साबित होता है। या फिर एक गिलास गर्म दूध पीना भी काफी फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि दूध तनाव दूर करने में भी सहायक होता है। इनके अलावा आप केले, बादाम और हर्बल चाय का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि इनमें कुछ तत्व ऐसे भी पाए जाते हैं, जो अच्छी नींद को बढ़ावा देते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *