छापा पड़ते ही शादी को सगाई में बदल दिया

 wedding turned into an engagement

श्रीगंगानगर, 10 फरवरी (नि.स.)। बाल कल्याण समिति तथा चाइल्ड हैल्पलाइन ने एक सूचना मिलते ही शुक्रवार रात को आनंद विहार कॉलोनी के सामने की बस्ती में छापा मारा, जहां एक नाबालिग लड़की की शादी का आयोजन हो रहा था। बारात मीरा चौक से आ चुकी थी। छापा मारने वालों ने जैसे ही आयोजन में शामिल लोगों से पूछताछ करनी शुरू की, लड़की और लड़के वाले दोनों ही शादी की बात से मुकर गये। उन्होंने कहा कि वे तो सिर्फ सगाई कर रहे हैं। शादी तभी करेंगे, जब लड़की 18 वर्ष से अधिक आयु की हो जायेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत सैनी एडवोकेट, सदस्य श्रीमती प्रभा शर्मा व चाइल्ड हैल्पलाइन टीम के सदस्य आसिफ अली ने रात लगभग 10 बजे सदर थाना के हवलदार प्रमोद शर्मा को साथ लेकर सैक्रेट हार्ट स्कूल से आगे आनंद विहार कॉलोनी के सामने की बस्ती में छापा मारा। चाइल्ड हैल्पलाइन के कोर्डिनेटर त्रिलोक वर्मा ने बताया कि सूचना मिली थी कि इस बस्ती में एक माली परिवार द्वारा नाबालिग लड़की की शादी की जा रही है। मौके पर गये टीम के सदस्यों ने जब लड़की की आयु सम्बंधी दस्तावेज घर वालों से मांगे, तो उनके पास कोई दस्तावेज नहीं था। लड़की अनपढ़ थी। उसका न तो आधार कार्ड था और न ही वोटर आईडी कार्ड। राशन कार्ड के हिसाब से उसकी आयु 17 वर्ष 8 महीने थी। जांच-पड़ताल के दौरान सीडब्ल्यूसी और चाइल्ड हैल्पलाइन की टीमों को पता चला कि इस लड़की की शादी पहले भी की गई थी।उसकी जिसके साथ शादी की गई, वह ज्यादा उम्र का था। बाद में उसके साथ इस लड़की का तलाक हो गया। लड़की के घर वालों ने तलाक के कागजात भी दिखाये। श्री वर्मा के अनुसार यह छापा पडऩे पर लड़के-लड़की के परिवार वालों का कहना था कि वे अभी कोई शादी नहीं कर रहे।सिर्फ सगाई समारोह ही आयोजित किया जा रहा है। दोनों पक्षों को सीडब्ल्यूसी की ओर से पाबंद किया गया है कि जब तक लड़की 18 वर्ष की नहीं हो जाती, तब तक शादी नहीं करेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *