फल और सब्जियों का लाल रंग निखारेगा आपकी रंगत, डाइट में करें इन्हें शामिल

कभी सोचा है कि ये फल और सब्जियां अलग-अलग रंग के क्यों होते हैं। इनके रंग से पोषण का भी कोई नाता है या नहीं। हरे फल और सब्जियों को खाने की सलाह हर कोई देता है, क्योंकि इसमें आयरन, फाइबर और फोटो न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। आज हम आपको लाल रंग के फल और सब्जियों के गुण और खासियतों के बारे में बता रहे हैं। लाल गहरे रंग की फल और सब्जियां कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा को शरीर में एनर्जी बनाने में मदद करती हैं। इनमें कई पॉवरफुल और दिल की सेहत सुधारने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जैसे कि एंथोसियानिन, लाइकोपिन, फ्लेवेनॉएड और रेसवेराट्रोल। इनमें हृदय रोगों और प्रोस्?टेट कैंसर से लडऩे की ताकत होती है और ये स्ट्रोक एवं मैकुलर डिजेनरेशन का खतरा भी कम करता है। लाल रंग के खाद्य पदार्थों की सूची इस प्रकार है
लाल रंग के फल
अनार
तरबूज
लाल सेब
चैरीज
लाल संतरे
रसभरी
स्ट्रॉबेरी
लाल अंगूर
क्रैनबैरी
लाल चकोतरा
लाल नाशपाती
टमाटर
अमरूद
लाल रंग की सब्जियां
लाल शिमला मिर्च
लाल राजमा
लाल मिर्च
चुकंदर
लाल गाजर
लाल प्याज
लाल आलू
लाल रंग के खाद्य क्यों अच्छे होते हैं
पूरी तरह से लाल रंग के फल-सब्जियों में कैलोरी और सोडियम कम होता है। इनमें कैरोटिनॉएड नामक लाइकोपिन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जोकि इन्हें लाल रंग देता है। लाइकोपिन फेफड़ों के कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, त्वचा कैंसर, कोलोन कैंसर और ओसोफेगस कैंसर से लडऩे में मदद करता है। एंथोसियानिंस, लाइकोपिन, फ्लेवेनॉएड्स और रेसवेराट्रॉल जैसे एंटीऑक्?सीडेंट्स लाल रंग की फल-सब्जियों में पाए जाते हैं। यह हृदय रोग, कैंसर से लडऩे में मदद करते हैं, आंखों की रोशनी बढ़ाते हैं और ब्लडप्रेशर नियंत्रित करते हैं। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के अनुसार 95 प्रतिशत युवा अपने आहार में पर्याप्?त लाल और संतरी रंग की सब्जियां नहीं लेते हैं।
लाल रंग के खाद्यों में पोषण ही पोषण
अनार –अनार में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कैंसर, खासतौर पर प्रोस्टेट कैंसर से बचाते हैं। इसमें एंटी इंफ्लामेट्री यौगिक होते हैं जोकि शरीर में सूजन को कम करते हैं और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाते हैं।
लाल सेब –लाल सेब, एंटीऑक्सीडेंट्स, डायट्री फाइबर और फ्लेवेनॉएड्स से युक्?त होता है। एंटीऑक्सीडेंट कैंसर, डायबिटीज़, हाइपरटेंशन और ह्रदय रोगों के खतरे को कम करता है।
चुकंदर –चुकंदर एंटीऑक्सीडेंट युक्त बेहतरीन सब्जी मानी जाती है। इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर, पोटाशियम, विटामिन सी, नाइट्रेट और फोलेट पाया जाता है। ये पोषक तत्व ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है और रक्तप्रवाह को बेहतर कर पाता है।
तरबूज –तरबूज में लाइकोपिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जोकि ह्रदय रोगों के खतरे को कम कर देता है और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम कर स्ट्रोक के खतरे में भी कमी लाता है। लाल रंग के फल प्रोस्टेट कैंसर और मैकुलर डिजेनरेशन के खतरे को भी कम करता है।
लाल गाजर –गाजर पोटाशियम, फोलेट, विटामिन सी, लाइकोपिन, एंथोसियानिन, जिंक, फास्फोरस, मैगनीज़, कॉपर, आयरन, कैल्शियम, विटाामिन ए, विटामिन बी, विटामिन ई, विटामिन के और डायट्री फाइबर से प्रचुर होता है। ये सब पोषक तत्च शरीर को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी होते हैं।
लाल टमाटर – टमाटर को फल कहा जाता है और इसमें लाइकोपिन की मात्रा बहुत ज़्यादा होती है जोकि प्रोस्टेट कैंसर, ओसोफेगस कैंसर और कोलोन कैंसर को खत्म करने में मदद करती है। लाइकोपिन पके हुए टमाटर जैसे कि सूप, स्टू और चटनी आदि में ज़्यादा पाया जाता है।
ये लाल रंग पोषण का खजाना
स्ट्रॉबेरी –स्ट्रॉबेरी फोलेट, पोटाशियम और विटामिन सी का उत्तम स्रोत माना जाता है। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जोकि इम्यून सिस्टम को मज़बूत करता है और बैड कोलेस्ट्रॉल को घटाता है। स्ट्रॉबेरी की एक सर्विंग में संतरे से ज़्यादा विटामिन सी होता है।
क्रैनबैरी-क्रैनबैरी यूटीआई से बचाव करती हैं। ये पेट में होने वाले बैक्टीरिया और पेट का अल्?सर पैदा करने वाले एच पाइलोरी से भी बचाती है। इसमें पॉवरफुल प्रोएंथेसियानिदिन पाया जाता है जोकि बहुत फायदेमंद होता है।
चैरी –गहरे लाल रंग की चैरीज़ में भरपूर मात्रा में पोषण होता है। चैरी में पाया जाने वाला एंथोसियानिन उन्हें गहरा लाल रंग देता है। ये एंथोसियानिन शरीर को फ्री रेडिकल्स के नुकसान से बचाता है और बाहरी विषाक्?तों को एजिंग की प्रक्रिया को तेज़ करने से दूर करता है।
रसभरी –रसभरी में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जोकि एलडीएल के स्तर को कम करता है और बैड कोलस्ट्रॉल को घटाता है। रसभरी में पर्याप्त मात्रा में जिंक, नियासिन, पोटाशियम और उच्च मात्रा में पॉलीफेनोलिक फाइटोकेमिकल्स होते हैं जैसे कि लिगनन, टैनिन, फेनोलिक एसिड और फ्लेवेनॉएड।
लाल शिमला मिर्च –लाल शिमला मिर्च इम्?यून सिस्टम को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, विटामिन ई, फोलेट और सिर्फ 30 कैलोरी होती है।
लाल राजमा –लाल रंग के राजमा में ह्रदय को स्वस्थ रखने वाले फाइबर, जिंक पाया जाता है जोकि घाव को भरने में मदद करता है और विटामिन बी न्यूरोलॉजिकल क्रिया को बेहतर करता है। इसमें पोटाशियम और फोलेट भी होता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *