जो ईरान से व्यापार करेगा, वो हमसे नहीं कर पाएगा- ट्रंप

वाशिंगटन। ईरान पर फिर से लागू हुए अमेरिकी आर्थिक प्रतिबंधों के बाद दुनियाभर के देशों पर अमेरिका ने इस बात के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया है कि वे ईरान से दूरी बना लें। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके कहा, जो देश ईरान के साथ व्यापारिक संबंध जारी रखेंगे वे अमेरिका के साथ अपने व्यापारिक संबंध आगे नहीं बढ़ा पाएंगे। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ईरान पर आधिकारिक रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह अब तक का सबसे कड़ा प्रतिबंध है। नवंबर में यह पाबंदी और बढ़ेगी। जो ईरान के साथ संबंध जारी रखना चाहते हैं, वे अमेरिका के साथ अपने संबंधों को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे। मैं दुनिया से शांति के लिए ऐसा कह रहा हूं, इससे कम कुछ भी नहीं। यहां गौर करने वाली बात यह है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने 2015 में ईरान के साथ एक परमाणु समझौता किया था, जिसके तहत ईरान को अपना परमाणु कार्यक्रम सीमित करना था और उसके बदले वह कच्चे तेल का निर्यात करता था। ट्रंप के आने के बाद से ही यह समझौता रद किए जाने की आशंका जताई जा रही थी क्योंकि ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान में इस समझौते की कड़ी आलोचना की थी। इस समझौते का इजरायल और सऊदी अरब जैसे देश भी विरोध कर रहे थे। ट्रंप ने अपने वादे के मुताबिक यह समझौता तोड़ दिया और एक बार फिर ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लागू हो गए।यूरोपीय संघ इस मामले में ट्रंप के रुख से सहमत नहीं था, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ईरान को लेकर झुके नहीं। उधर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने आर्थिक पाबंदी लगाए जाने की कड़ी आलोचना की है। रूहानी ने कहा है कि यह एक मनोवैज्ञानिक युद्घ है जो ईरानियों को बांटने के लक्ष्य से छेड़ा गया है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *