इंसान के जीवन में मां की श्रेष्ठ भूमिका -भदेल

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत कार्यशाला आयोजित

जयपुर, 17 सितम्बर (का.सं.)। महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनिता भदेल ने कहा कि मानव के जीवन में मां का बहुत ही महत्व होता है। मां एक शिशु को जन्म देती जो कि आगे चलकर परिवार,समाज,देश के सर्वागीण विकास में भूमिका निभाता है । भदेल सोमवार को अजमेर जिले मेंं महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत आयोजित जिला स्तरीय कार्यशाला को संबोधित कर रही थी।इस अवसर पर भदेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता रखते हुए उनके लिए प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की शुरूआत की है। प्रधानमंत्री ने उन गरीब एवं पिछडे परिवार की आर्थिक स्थितियों को ध्यान में रखा जो कि गर्भावस्था के दौरान आवश्यक पौष्टिक आहार नहीं ले पाते। इस योजना के तहत गर्भवती एवं धात्री महिला को इस समयावधि के दौरान पांच हजार रूपये नगद उसके खाते में दिये जाते है। इस राशि से महिलाएं आवश्यक पोैष्टिक आहर क्रय कर उन्हें खा सके। इस येाजना में पैसे का महत्व नहीं है अपितु परिवार में एक गर्भवती महिला के सम्मान से है ताकि परिवार के अन्य लोग उसका सम्मान करें ।उन्होंने कहा कि देश के विकास के बारे में सोचने वाले लौह पुरूष नरेन्द्र मोदी को हम हद्वय से बधाई देते हैं । उन्होंने मां की महत्ता पर प्रकाश डाला एवं बताया कि विषम परिस्थति में अपने बच्चे को श्रेष्ठ बनाने की भूमिका बनाती है। हम सभी को इस येाजना का अधिक-अधिक प्रचार-प्रसार कर लाभान्वित वर्ग को जोडने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कार्यशाला में उपस्थित विभागीय अधिकारियों आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ता, सहायिका, आशा-सहयोगिनी को सम्बोधित करते हुए कहा कि योजना के तहत केन्द्र पर आने वाली महिलाओं को पंजीकृत कर उन्हे लाभान्वित करें । अजमेर जिला प्रमुख सु वन्दना नोगिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर समाज, हर वर्ग की तरक्की के लिए योजनाएं बनायी हैं। हम सभी को योजना का अधिक-अधिक लाभ लक्ष्ति समूहों को पहुंचाना चाहिए।कार्यशाला के दौरान संतोष भटनागर, शारदा शर्मा, सतोंष देवी एवं मनीष जैन, जिला परियोजना समन्वयक को सम्मानित किया गया । कार्यशाला के दौरान नितेश यादव,बाल विकास परियेाजना अधिकारी, अजमेरशहर एवं आशा माथुर, रिजा बंशीवाल, दुर्गेश शर्मा, महिला पर्यवेक्षक को प्रथम एवं द्वितीय एवं तृतीय स्थान इस येाजना के जिले में संचालन हेतु एवं लाभान्वितों को अधिक-अधिक जोडऩे हेतु दिया गया । कार्यशाला में जिला परिषद के सीईओ अरूण गर्ग एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम एम.एल नेहरा, उपखण्ड अधिकारी अंजलि राजोरियां, आईएएस प्रशिक्षु तेजस्वनी राणा, बाल विकास परियेाजना अधिकारीगण,महिला पर्यवेक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,सहायिका एवं आशा-सहयोगिनी उपस्थित थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *