शाओमी ने ऑनलाईन लेंडिंग समाधान-मी क्रेडिट की घोषणा की

 

नई दिल्ली। भारत के नं. 1 स्मार्टफोन एवं स्मार्ट टीवी ब्रांड, शाओमी ने भारत में अपने डिजिटल लेंडिंग समाधान मी क्रेडिट की घोषणा की। मी क्रेडिट मी पे के बाद भारत में लांच होने वाला शाओमी का दूसरा मी फाईनेंस समाधान है।मी क्रेडिट मी फैंस को सर्वश्रेष्ठ पर्सनल लोन प्रदान करने वाला लेंडिंग का ऑनलाईन क्योरेटेड मार्केट प्लेस है। इसके वर्तमान लेंडिंग पार्टनर्स में मुख्यत: एनबीएफस या फिनटेक जैसे आदित्य बिरला फाईनेंस लिमिटेड, मनी व्यू, अर्ली सेलरी, जेस्ट मनी और क्रेडिट विद्या शामिल हैं। यह उभरते हुए युवा प्रोफेशनल्स एवं मिलेनियल्स क ेलिए पहले व्यक्तिगत लोन विकल्प के रूप में निर्मित किया गया है। मी क्रेडिट 100 प्रतिशत डिजिटल अनुभव के साथ पारंपरिक लेंडिंग उद्योग से जुड़ी अधिकांश चुनौतियों का समाधान करता है।
होंग फेंग, को-फाउंडर एवं सीनियर वाईस प्रेसिडेंट, शाओमी कॉर्पोरेशन/चेयरमैन एवं सीईओ, शाओमी फाईनेंस ने चीन से बाहर मी क्रेडिट के ग्लोबल लांच के बारे में कहा, ”शाओमी का मी फाईनेंस बिजनेस चार साल पहले चीन में शुरू हुआ। इसका उद्देश्य हर किसी को फिनटेक का इनोवेशन उपलब्ध कराना था। हम अपने ग्लोबल मी फैन समुदाय, रिटेल पार्टनर्स एवं मैनुफैक्चरिंग उद्योग के लिए विस्तृत फाईनेंशल पार्टनर बनने के लिए प्रतिबद्ध हैं। आज हमारे ग्लोबल समुदाय में 300 मिलियन से ज्यादा मी फैंस है। उनके उपयोग के तरीके को समझकर हम दुनिया में मी फाईनेंस बिजनेस का ेमजबूत करने के लिए अपनी इस शक्ति का उपयोग करना चाहते हैं। हमें भारत में कंज्यूमर लेंडिंग में विशाल अवसर दिखाई दे रहे हैं तथा बीसीजी रिपोर्ट के अनुसार हमारा अनुमान 2023 तक डिजिटल लेंडिंग में 1 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचने का है। इसलिए हमें विश्वास है कि हमारा मी फाईनेंस बिजनेस, मी पे एवं मी क्रेडिट जैसे समाधानों के आधार पर भारतीय फिनटेक उद्योग में परिवर्तन ला देगा। मी क्रेडिट पायलट फॉर्मेट में भारत में चल रहा है और यह नवंबर, 2019 में 28 करोड़ रु. (लगभग 1 करोड़ रु./दिन) का लोन वितरित कर चुका है। 20 प्रतिशत से ज्यादा यूजर्स ने सर्वाधिक लोन राशि, 1 लाख रु. प्राप्त की। वर्तमान में मी क्रेडिट 10 से ज्यादा राज्यो में 1500 पिन कोड्स पर सेवाएं देता है और इसका उद्देश्य वित्त वर्ष 2019 के अंत तक 100 फीसदी पिन कोड्स (19,000 से ज्यादा पिन कोड्स) तक अपनी सेवाएं विस्तृत करना है।
13 लाख रुपये के नकली शाओमी उत्पाद जब्त किए गए- शाओमी ने घोषणा की है कि गफ्फार मार्केट में सप्लायर्स से 13 लाख रु. मूल्य के नकली शाओमी उत्पाद जब्त किए गए। नकली सामान पर रोक लगाने के शाओमी के प्रयासों के तहत स्थानीय पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज कराई गई एवं 25 नवंबर को गफ्फार मार्केट में छापेमारी की गई। सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट करोल बाग पुलिस स्टेशन के पुलिस अधिकारियों ने कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ छापेमारी की और चार शॉप मालिकों से 2000 से ज्यादा नकली शाओमी उत्पाद जब्त किए। इन चारों को शाओमी के नकली उत्पाद बेचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। इस छापेमारी में 2000 से ज्यादा नकली उत्पाद पकड़े गए, जिनमें मोबाईल एक्सेसरीज़ की पूरी श्रृंखला शामिल है। इनमें से कुछ मोबाईल एक्सेसरीज़ तो भारत में आधिकारिक तौर से लॉन्च भी नहीं की गई हैं। जब्त किए गए नकली सामान में मी पॉवर बैंक्स, एमआई नेक बैंड्स, एमआई ट्रैवल एडैप्टर विद केबल, एमआई ईयरफोन बेसिक विद माईक, एमआई वायरलेस हेडसैट, रेडमी एयर डॉट्स, एमआई 2-इन-1 यूएसबी केबल आदि हैं। पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि ये चारों सालों से यह व्यवसाय ऐसे ही चला रहे हैं।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *