एंबुलेंस के डेड-बॉडी फ्रीजर में मुर्दे की जगह भरी मिली शराब की बोतलें

नई दिल्ली, 17 अप्रैल (एजेन्सी)। राजधानी में पुलिस चौकसी से हलकान तस्कर शराब तस्करी को रोज नये फार्मूले खोज रहे हैं। अभी तक तस्कर कुकिंग गैस सिलेंडर, सब्जी, दूध के ड्रम या फिर साइकिल, मोटर साइकिल के ट्यूब का इस्तेमाल शराब छिपाने में कर रहे थे। हरियाणा से चोरी छिपे दिगी में शराब ला रहे तस्करों ने इन तमाम फार्मूलों को मात दे दी। शराब तस्करों का यह गैंग एंबुलेंस के भीतर शव रखने के लिए एअरकंडीशन फ्रीजर का इस्तेमाल करते पकड़े गये। गुरुवार को आईएएनएस को यह जानकारी द्वारका जिले के डीसीपी एंटो अल्फांसे ने दी। उन्होंने कहा, गगिरफ्तार आरोपियों का नाम हरीश लोहिया और देवेंद्र है। हरीश लोहिया वसंत विहार दिगी और देवेंद्र कुसुमपुर पहाड़ी, दिगी का रहने वाला है। इनके कब्जे से 25 पेटी शराब (816 क्वार्टर) सहित काफी तादाद में शराब मिली है। आरोपियों के पास से बरामद एंबुलेंस को भी जब्त कर लिया गया है। यह गैंग उस वक्त पकड़ा गया जब उसके सदस्य एंबुलेंस में बैठकर छाबला गांव की ओर से कुतुब विहार की ओर जा रहे थे। डीसीपी ने आगे बताया, गइस गैंग को पकडऩे के लिए एसीपी अशोक त्यागी के नेतृत्व में टीम बनाई गयी थी। टीम में एसएचओ छाबला इंस्पेक्टर ग्यानेंद्र राना, हवलदार ईश्वर, सिपाही महेंद्र और प्रदीप को शामिल किया गया था। कुतुब विहार शमशान घाट के पास पुलिस बैरीकेट लगे देखकर एंबुलेंस ने जब गति धीमी की। उसी वक्त एंबुलेंस में मौजूद लोगों पर शक हुआ। पूछताछ के दौरान वे लोग टूट गये। जब एंबुलेंस में रखे डेड-बॉडी फ्रीजर को चेक किया तो, उसमें शराब भरी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *