मंत्री ने अधिकारियों से लिया योजनाओं का फीडबैक

गृह रक्षा एवं नागरिक सुरक्षा विभाग की समीक्षा बैठक

जयपुर, 4 सितम्बर (का.सं.)। गृह रक्षा एवं नागरिक सुरक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने कहा कि महामारी, बाढ़ जैसी आपदाओं के दौरान नागरिक सुरक्षा विभाग द्वारा किये जाने वाले कार्य प्रशंसनीय हैं। उन्होंने विभाग में रिक्त पड़े पदों को शीघ्र भरने तथा नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों के प्रशिक्षण कार्यक्रम शीघ्र करवाने के निर्देश दिये। जाटव शुक्रवार को मंत्रालय भवन में विभाग की समीक्षा बैठक ले रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से विभाग की विभिन्न योजनाओं के संबंध में फीडबैक लिया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने नगर निगम की अग्निशमन सेवा में नागरिक सुरक्षा विभाग के अग्निशमन प्रशिक्षित स्वयंसेवकों को प्राथमिकता से लगाये जाने के लिए स्थानीय निकाय विभाग को लिखने के लिए निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नागरिक सुरक्षा निदेशालय के भवन निर्माण कार्य त्वरित गति से करवाया जाए। नागरिक सुरक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य में नागरिक सुरक्षा विभाग के सुदृढीकरण के तहत जिला स्तर पर आवश्यक खोज व बचाव उपकरण क्रय किये जाने के लिए राज्य सरकार द्वारा 10 करोड रूपये की राशि के बजट का आवंटन किया गया है तथा जिला कलक्टरों को आवश्यकतानुसार सामग्री क्रय करने हेतु अधिकृत किया गया है। उन्होंने जिला स्तर पर मॉनिटरिंग कर बजट का समय पर उपयोग किये जाने के लिए निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा नागरिक सुरक्षा व्ययों की प्रतिपूर्ति के पुनर्भरण के रुप में लगभग 7 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है जो विभाग के लिए बड़ी उपलब्धी है। जाटव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि नियमित रुप से नागरिक सुरक्षा एवं आपदा प्रबन्धन में सेवायें देने वाले नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों को भारत सरकार द्वारा निर्धारित यूनिफॉर्म (गहरी नीली डांगरी) शीघ्र उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने फतेहपुरा (बेगस) स्थित नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा के संयुक्त राज्य स्तरीय केन्द्रीय प्रशिक्षण संस्थान का उपयोग नागरिक सुरक्षा एवं गृह रक्षा विभाग द्वारा संयुक्त रुप से समर्पित स्वतंत्र प्रशिक्षण संस्थान के रुप में उपयोग में लिये जाने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने विभाग में रिक्त पड़े वाहन चालकों के पदों पर शीघ्र भर्ती के लिए निर्देश दिये तथा कहा कि नागरिक सुरक्षा विभाग के विभागीय अधीनस्थ एवं राज्य सेवा नियम को प्राथमिकता से बनवाया जाए ताकि विभाग में रिक्त पदों को शीघ्रता से भरा जा सके। नागरिक सुरक्षा विभाग राज्य मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित होटलों, शिक्षण संस्थानों, औद्योगिक इकाईयों, मॉल व अन्य महत्वपूर्ण भवनों का अग्निशमन अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए नगरीय निकाय के स्थान पर नागरिक सुरक्षा विभाग को अधिकृत किये जाने हेतु आवश्यक नियम बनाए जाएं।बैठक में शासन सचिव, आपदा प्रबन्धन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग सिद्धार्थ महाजन ने राज्य में सीमावर्ती क्षेत्रों में नागरिक सुरक्षा संचार प्रणाली को मजबूत करने के लिए केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये। उन्होंने राज्य के सरकारी तथा प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में सेल्फ डिफेन्स एवं आपदा प्रबन्धन संबंधित जागरुकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करनेे तथा एनएसएस,एनसीसी तथा स्काउट के प्रशिक्षणों में नागरिक सुरक्षा, आपदा प्रबन्धन एवं अग्निशमन विषयों को शामिल किये जाने के लिए निर्देशित किया। बैठक में संयुक्त शासन सचिव आपदा प्रबन्धन श्रीमति कल्पना अग्रवाल, उप निदेशक नागरिक सुरक्षा विभाग डॉ. जी. एल. शर्मा एवं जेएसओ, नागरिक सुरक्षा विभाग फूलचन्द उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *