खाद्य सुरक्षा योजना में गरीब पात्र व्यक्तियों के नाम जोड़े

जयपुर, 20 सितम्बर (का.सं.)। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश मीना ने शुक्रवार को करौली के सर्किट हाउस में खाद्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक लेकर जिले मे रसद विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यो की विस्तार से जानकारी प्राप्त की। मीना ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि खाद्य सुरक्षा योजना मे गरीब पात्र व्यक्ति का नाम जोड़े साथ ही योजना में सरकारी कर्मचारी या आर्थिक रूप से सम्पन्न व्यक्ति जिसके पास गाड़ी जमीन इत्यादि है ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश भी दियें। खाद्य मंत्री ने समीक्षा के दौरान 2017 की आवंटित की गई 900 क्विटंल चीनी जो खराब हो गई है वह अधिकारियों की लापरवाही का प्रतीक है उसके क्या कारण रहे है क्यो नही वितरित हुई इसके लिये जॉच कर संबंधित के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दियें। उन्होने अनुकम्पा के आधार पर उचित मुल्य की दुकानों को 7 दिवस में आवंटित करने के निर्देश दियें। उन्होने एफसीआई से गेहूं उठाने पर उसकी गुणवत्ता की जॉच करने के भी निर्देश भी दिये क्योकि गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता नही हो वजन में सही हो इसके लिये धर्मकाटों को भी चेक करायें। उन्होन वनप्लसवन कोड वाला सिस्टम बंद किया जायेगा इसके लिये उन्होने प्रत्येक माह का गेहूं उसी माह वितरित हो यह सुनिश्चित कर लिया जायें। खाद्य मंत्री ने उचित मुल्य की दुकानों, महिला समूह, 12 महीने से अधिक निलंबित दुकानों, गेहू, चीनी, कैरोसीन वितरण की जानकारी लेते हुए जो पॉच लाख लीटर कैरोसीन स्टॉक में पड़ा है उसकी रिकवरी का समायोजन कराने के निर्देश जिला रसद अधिकारी को दियें। उन्होने खाद्य सुरक्षा प्रणाली को सुदृढ बनाने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को देते हुए कहा कि अटैचमेंन्ट दुकानों एवं उचित मुल्य की दुकानों, पेट्रोल पंप एवं गैस जेन्सियों की प्रत्येक 6 माह में वार्षिक मूल्यांकन की भांति जॉच करने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिये। खाद्य मंत्री ने महिला एवं बाल विकास विभाग में कैलादेवी केन्द्र पर पोषाहार में कीड़े मिलने की शिकायत पर बताया कि जिन स्वयं सहायता समूहों एवं अधिकारियों द्वारा गरीब बच्चो एवं गर्भवती धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है उसकी तह तक जाकर संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। इस संबंध में खाद्य मंत्री ने जिला कलक्टर नन्नूमल पहाडिया से चर्चा कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों की नियमित जॉच कराये साथ ही खाद्य सुरक्षा में अपात्र लोगों का चिन्हिकरण कर उनके खिलाफ कार्यवाही की जायें।बैठक में जिला रसद अधिकारी रामसिंह मीना, प्रर्वतन निरीक्षक अमित शर्मा, सुनीता मीना, हरविंद शर्मा सहित रसद विभाग के कार्मिक उपस्थित थें।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *