राज्य में स्थिति नियंत्रण में, हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है विभाग-सिंह

जयपुर, 6 मार्च (का.सं.)। चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना की रोकथाम के लिए विभाग द्वारा जागरूकता अभियान चलाए जा रहे है, अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों की सघन स्क्रिनिंग करवाई जा रही है। इसके अलावा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं जिससे कोरोना को मात दी जा सके। सिंह शुक्रवार को केंद्रीय चिकित्सा मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दे रहे थे। प्रदेश के मुख्यमंत्री चिकित्सा मंत्री, मुख्य सचिव सहित विभाग के अधिकारियों के साथ कई बार बैठक कर चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री कोरोना के बारे में विधानसभा में भी विस्तार से चर्चा कर चुके हैं। प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर, सीएमएचओ, पीएमओ सहित अन्य अधिकारियों से प्रतिदिन बैठक कर रिपोर्ट मांगी जा रही हैं।  अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश भर में रेडियो, टीवी, अखबारों व सोशल मीडिया के माध्यम से कोरोना की रोकथाम से जुड़े अभियान चलाए जा रहे हैं। प्रदेश में रैपिड रिलीफ टीम का गठन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इटली पर्यटकों के दल ने जिन 7 स्थानों पर भ्रमण किया था उनके संपर्क में रहे 310 लोगों की स्क्रिनिंग की जा चुकी है। इनमें से 267 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे, उनमें से केवल दो पॉजीटिव पाए गए थे। उनका अच्छे से इलाज चल रहा है। पुरुष मरीज को तो गुरुवार को ऑक्सीजन में कमी की गई है और उनकी हालत पहले से बेहतर है। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भी इन सातों स्थानों की मॉनिटरिंग की जा रही है। विभाग ने भी 104/108 के अलावा सभी जिला मुख्यालयों और राज्य स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित कर रखा है। गांवों में पर्याप्त जागरूकता और प्रचार-प्रसार के लिए ग्रामीण विकास विभाग को भी लिखा जा चुका है। उन्होंने कहा कि 20 हजार से ज्यादा मास्क भी जिलों में भेजे जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि सभी जिला कलेक्टर नोडल ऑफिसर हैं और हालात पर पूरी तरह नजर रख रहे हैं। निजी अस्पतालों को किसी भी स्थिति में तैयार रहने के निर्देश जारी किए जा चुके हैं। केंद्रीय चिकित्सा मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कोरोना को हराना है तो समाज के हर तबके तक इस रोग की रोकथाम के प्रति पूर्ण जागरूकता लानी होगी और रोग से बचने की समझ विकसित करनी होगी। उन्होंने कहा कि बचाव और सावधानी के जरिए ही कोराना को हराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी राज्य कोरोना के मामले में बेहतरीन काम रहे हैं लेकिन इसको आगे बढऩे से रोकने के लिए हमें और अधिक सजग रहना होगा। हर्षवर्धन ने कहा कि राज्य सरकारें गांव-कस्बों, शहरों सब जगह जागरूकता जिस भी माध्यम में जागरूकता लाई जा सके करें, उस पर अमल किया जाए। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों के बॉर्डर अंतरराष्ट्रीय सीमा से जुड़ते है उनकी व सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों की गहनता से स्क्रिनिंग करवाई जाए। इसके अलावा केंद्र और विश्व स्वास्थ्य संगठन से जारी होने वाली सभी एडवाइजरी का पालना की जाए। केंद्रीय चिकित्सा सचिव ने राज्य सरकार द्वारा किए गए प्रयासों की तारीफ भी की। इस अवसर पर मिशन निदेशक एनएचएम नरेश कुमार ठकराल, एसएमएस अस्पताल के प्रिंसिपल सुधीर भंडारी, अधीक्षक डीएस मीणा, केके शर्मा, रवि प्रकाश शर्मा सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *