गिरफ्तारी की मांग को लेकर सादुलशहर में बंद का मिलाजुला असर

– पंजाब के मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन दिया

श्रीगंगानगर, 24 जून (का.सं.)। एस एन कॉलेज आफ नर्सिंग के हॉस्टल की छात्रा कुसुम (22) द्वारा रेलगाड़ी से कूदकर आत्महत्या कर लेने के बहुचर्चित मामले के अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आज सादुलशहर में अग्रवाल समाज के आह्वान पर बुलाए गए बंद का मिलाजुला असर रहा। सादुलशहर कस्बे के निवासी कुसुम द्वारा खुदकुशी करने कर लेने का यह मामला एक सप्ताह से गरमाया हुआ है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सादुलशहर में अग्रवाल समाज द्वारा किए गए आह्वान के तहत आज सुबह से कस्बे के बाजार बंद रहे। बंद का आह्वान दोपहर तक किया गया था। इस दौरान दुर्गा मंदिर में एक बैठक हुई,जिसमें अनेक जनप्रतिनिधि और गणमान्य लोग शामिल हुए। इसमें वक्ताओं ने जहां अभियुक्तों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की, वहींं हॉस्टल की भी जांच की मांग की है। वक्ताओं का कहना है कि हॉस्टल में रहने वाले सभी विद्यार्थियों से तथा हॉस्टल के प्रबंधन का दायित्व संभालने वाले सभी कर्मचारियों से पूछताछ होनी चाहिए। बैठक के बाद उपस्थित सभी लोग जुलूस के रूप में बाजारों में गए और दुकानों को बंद कराया। सादुलशहर नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप खीचड़, भाजयुमो नेता गुरवीरसिंह बराड़ की अगुवाई में बड़ी संख्या में लोगों ने उपखंड अधिकारी यशपाल आहूजा को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदरसिंह के नाम ज्ञापन देकर मांग की कि जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। श्रीगंगानगर में सूरतगढ़ मार्ग पर एसएन कॉलेज ऑफ नर्सिंग के हॉस्टल में रहकर आरएसएलडीसी प्रोजेक्ट के तहत डायलिसिस टेक्निशियन का ऑल जॉब ट्रेनिंग कोर्स कर रही कुसुम पुत्री जगदीश अग्रवाल निवासी सादुलशहर ने विगत 18 जून की रात 8 बजे श्रीगंगानगर से अबोहर जाते समय अबोहर से पहले किलियांवाली रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को उसके बैग में सुसाइड नोट और मोबाइल फोन मिला। सुसाइड नोट में उसने कॉलेज के हॉस्टल में प्रबंधकों द्वारा खाने की व्यवस्था ने किए जाने सहित विभिन्न अवस्थाओं का उगेख करते हुए अपनी मौत के लिए आरएसएलडीसी प्रोजेक्ट के प्रभारी गौरव सेठी तथा दो विद्यार्थियों अजय व मनप्रीत कौर को जिम्मेवार ठहराया।
सुसाइड नोट और मोबाइल फोन में मिली एक रिकॉर्डिंग क्लिप के आधार पर जीआरपी थाना अबोहर ने कुसुम को आत्महत्या के लिए मजबूर कर देने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। जीआरपी पुलिस का कहना है कि यह मामला दूसरे राज्य से संबंधिथ होने के कारण इसकी जांच पड़ताल में कुछ अड़चन आ रही है। जीआरपी पुलिस ने विगत दिवस श्रीगंगानगर में कॉलेज में आकर नामजद अभियुक्तों तथा सुसाइड नोट में उगेखित अन्य व्यक्तियों के नाम, पता और मोबाइल नंबर जुटाए हैं। जीआरपी का कहना है कि वरिष्ठ अधिकारियों से वारंट जारी करवाकर के गिरफ्तारी प्रयास किए जाएंगे। इनके वारंट जारी करवा लिये गये हैं। सादुलशहर में बंद के दौरान प्रदर्शन करने के बाद गणमान्य नागरिकों की एक कमेटी गठित कर दी गई है। इस कमेटी में नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप खीचड, गिरधारीलाल, प्रेमप्रकाश गर्ग, राजेंद्र सिंघल गुरवीर बराड और संजय जांगिड़ को शामिल किया गया है। प्रदीप खीचड का कहना है कि दो-तीन दिन में गिरफ्तारी नहीं हुई तो अबोहर जाकर जीआरपी थाना का घेराव किया जाएगा। संघर्ष समिति की अगुवाई में आगे की रणनीति बनाई जाएगी बंद का कस्बे में मिलाजुला असर रहा। दोपहर एक बजे के बाद बाजार में लगभग सभी दुकानें खुल गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *