रिलायंस से बातचीत की अमेजन को थी पूरी जानकारी: किशोर बियानी

नई दिल्ली। फ्यूचर समूह के संस्थापक और सीईओ किशोर बियानी ने कहा कि खुदरा परिसंपत्तियों की बिक्री के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ समूह की बातचीत के बारे में अमेजन को पूरी तरह पता था, हालांकि अमेरिकी कंपनी ने नकदी संकट से उबरने के लिए कोई ठोस मदद की पेशकश नहीं की। फ्यूचर समूह इस समय रिलायंस के साथ 24,713 करोड़ रुपये के बिक्री समझौते को लेकर अमेजन के साथ कानूनी लड़ाई में उलझा हुआ है। बियानी ने बताया कि अमेरिकी कंपनी का 2019 में फ्यूचर कूपंस प्राइवेट लिमिटेड (एफसीपीएल), फ्यूचर रिटेल की पितृ कंपनी, में निवेश सिर्फ कूपन और उपहार कारोबार के लिए था और खुदरा परिसंपत्तियों के रिलायंस के पास जाने के बाद भी वह जारी रह सकता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सेबी की मंजूरी के दो महीनों में रिलायंस के साथ सौदा पूरा हो सकता है।अमेजन द्वारा किए गए मुकदमे के बारे में बियानी ने कहा कि सौदा और मध्यस्थता की प्रक्रिया, दोनों एक साथ जारी रह सकते हैं, क्योंकि अरबपति कारोबारी मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाले समूह के साथ हुआ समझौता समूह की कंपनी फ्यूचर कूपंस से संबंधित नहीं है, जिसमें ई-कॉमर्स कंपनी ने हिस्सेदारी हासिल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *