बैंक कर्मचारी बनकर खाते से पचास हजार निकाले

 

श्रीगंगानगर, 21 जून (का.सं.)। एक ठग ने बैंक कर्मचारी बन कर सूरतगढ़ तहसील के चक 28 पीबीएन के निवासी जीतसिंह खोसा के बैंक खाते से विगत बुधवार को लगभग पचास हजार रुपए को निकाल लिए। जीतसिंह ने बताया कि उसकी जीत कॉन्ट्रेक्टर एंड सप्लायर के नाम से एक फर्म है। वह जोधपुर विद्युत वितरण निगम में कांट्रेक्टर का काम करता है। उसका इसी फर्म के नाम से बैंक ऑफ बड़ौदा सूरतगढ़ में बैंक अकाउंट है। खोसा ने बताया कि 19 जून को उसके मोबाइल पर सुुबह 10.30 बजे कॉल आई। कॉल रिसीव करते ही पूछा कि क्या में जीतसिंह से बात कर रहा हूं। मैंने हां कहा।आगे ठग बोला कि आपका एटीएम कार्ड बंद हो चुका है। साथ में पैन कार्ड भी अपडेट करना है।इसलिए आपको एटीएम कार्ड पर लिखे 16 डिजिट नंबर बताने होंगे।उसके बाद आपके मोबाइल पर ओटीपी का मैसेज आएगा वही ओटीपी नंबर मेरे को बताने होंगे। जीत सिंह के अनुसार उसने पहले तो ना मुकुर की ।ठग ने कहा कि मैं जयपुर से बड़ौदा बैंक से बोल रहा हूं। मेरा नाम सुमित है। अगर आपको विश्वास ना हो तो मैं आपको अपना पैन कार्ड नंबर बता देता हूं। यह मेरे पैन कार्ड नंबर है और मेरी यह जीमेल आईडी है। इनको आप चेक कर सकते हो। इसपर जीत सिंह को विश्वास हो गया कि यह बैंक कर्मचारी ही होगा। साथ में ठग ने कहा कि यदि आपने आज ही एटीएम चालू नहीं करवाया तो प्लेंटी के 2030 रूपये लगेंगे । जीत सिंह ने इन बातों से प्रभावित होकर अपने एटीएम कार्ड के नंबर बता दिए।उसके बाद मोबाइल में आये ओ टी पी नंबर भी बता दिए । जीत सिंह के मोबाइल नंबर पर दो बार ओटीपी नंबर मैसेज आया ।दोनों बार ही ठग को ओटीपी नंबर बता दिए । ठग ने पहले जीत सिंह के खाते से 39300 रुपए निकाले।दस मिनट बाद दूसरी बार 10005 रुपए निकाले। जीत सिंह ने अपने खाते से कट रहे बैलेंस के मैसेज को अपने मोबाइल में ध्यान नहीं देया। वह दोपहर में बस स्टैंड 28 पीबीएन स्थित वक्रांगी केंद्र एटीएम पर अपने खाते से पैसे निकालने के लिए गया और एटीएम में कार्ड लगाया तो खाते से पैसे नहीं निकले ।तब उसने बैंक बैलेंस चेक किया ।बैंक बैलेंस चेक करते हैं उसके कदमों के नीचे से जमीन खिसक गई। बैंक बैलेंस 565 रुपए ही बचा था। बाद में जीत सिंह ने उसी नम्बर पर कई बार फोन किया। ठग ने एक दो बार फोन रिसीव किया और बोला मै जयपुर से हूं। मै रुपये वापस नही करूंगा,जो बनता है वो कर लो।बाद में पीडि़त ने बैंक ऑफ बड़ौदा सूरतगढ़ और सदर थाना सूरतगढ़ में इस ठगी की शिकायत दर्ज करवाई ।बैंक अधिकारी और सदर थाना पुलिस ने जांच करने की बात कही। वक्रांगी केंद्र संचालक मदन लाल वर्मा ने बताया कि बैंक कर्मचारी या बैंक मैनेजर कभी भी एटीएम से संबंधित जानकारी या अन्य दस्तावेजों की सिक्योरिटी सम्बंधी जानकारी के लिए फोन नहीं करता। ना ही कभी किसी भी व्यक्ति को ऐसी कॉल आने पर कोई भी जानकारी नहीं देनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *