नहर में गिरी कार, दो बेटियों व एक बेटे सहित पिता की मौत

श्रीगंगानगर, 4 अक्टूबर (का.सं.)। हनुमानगढ़ जिले में संगरिया थाना क्षेत्र में आज सुबह एक परिवार कार सहित नहर में समा गया। परिवार की महिला और उसकी पुत्री को लोगों ने बचा लिया लेकिन दो पुत्रियों और एक पुत्र सहित पिता की डूब जाने से मौत हो गई। हादसे का शिकार हुआ यह परिवार हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले का है जो कुछ दिनों से संगरिया में रिश्तेदारों के यहां आया हुआ था। प्राप्त जानकारी के अनुसार यह परिवार आज सुबह संगरिया के समीप त्रिदेव मंदिर पूजा-अर्चना के लिए गया था। सुबह करीब 8:45 बजे वापिस आते समय सार्दुल ब्रांच नहर में अनियंत्रित होकर कार गिरने से डूब गया। डूबने से परिवार की दो बेटियों, एक बेटे सहित उनके पिता की मौत हो गई जबकि मां-बेटी गंभीर हालत में हनुमानगढ़ में उपचाराधीन है। हादसा नाथवाना रोड स्थित पुल पर हुआ। पुल पर से गुजरते एक राहगीर ने जब कार डूबते देखी तो शोर मचाया। इस पर कार-टैक्सी स्टेंड व पास की गोशाला से लोग दौड़कर पहुंचे।
गांव रतनपुरा के एक कार चालक सतपाल, मुकेश सोनी, राकेश जाखड़, कृष्ण, अजय बिश्रोइ आदि ने छलांग लगाकर कार में से जीवन-मृत्यु के बीच संघर्ष कर रही मां-बेटी को बाहर निकाल लिया। निजी कार से उन्हें हस्पताल पहुंचाया। जिन्हें डॉ. नरेश गर्ग व अरविंद शर्मा की टीम ने संभाला। बाद उपचार गंभीर हालत देखते हुए हनुमानगढ़ रेफर कर दिया गया। बाकी लोगों को कार में पानी भर जाने व गहराई तक डूबने के चलते बचाव दल बाहर नहीं निकाल सका। आनन-फानन में इस दुर्घटना की खबर आग की तरह फैल गई। नहर पर भारी भीड़ उमड़ गई। भारी भीड़ को नहर से हटाने में पुलिसकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। थाना प्रभारी इंद्रकुमार, एएसआई सुखपालसिंह, हवलदार किशोर मान, यातायात पुलिसकर्मी प्रशांत गोदारा समेत पुलिस मौके पर पहुंचेे। नगरपालिका के पूर्व अधिशासी अधिकारी अरविंद खन्ना, सफाई निरीक्षक रामनारायण तथा सन्नी पहाडिय़ा जेसीबी मशीन तथा दमकल प्रभारी रामसिंह बगडिय़ा दमकलकर्मिकों को लेकर फायर टैडर सहित आए। राहत व बचाव कार्य शुरु हुआ। कुछ युवकों ने नहर में कूद कार की थाह लगाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे। आखिरकार रस्सियों एवं कांटे-जाल की मदद से दो घंटे के प्रयास से कार जाल में अटक गई। करीब 11 बजे जेसीबी से रस्सियों से कार को बांधकर नहर किनारे लाया गया। चालक साईड खिड़की में घुसकर पुलिसकर्मी लायकसिंह व तीन युवकों ने मिलकर कार में फंसे पिता सहित बच्चों को बाहर निकाला। लोगों ने शरीर में घुसे पानी को निकालकर कृत्रिम श्वांस देने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी। मौके पर एंबुलेंस नहीं होने से अरविंद खन्ना व हवलदार ओमप्रकाश अपने वाहनों में उन्हें डाल कर अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने बाद जांच उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस दर्दनाक हादसे में गांव निम्बी जिला महेंद्रगढ़ (हरियाणा) निवासी पूर्व सरपंच रहे राकेश कुमार (42) पुत्र सुरजीत धानक, उसके बेटे कुणाल (16), दो बेटियों खुशी उर्फ कालो (15) व वंदना (12) की मौत हो गई। उसकी पत्नी कमलेश रानी (35) व पुत्री कोमल (19) गंभीर हालत में हनुमानगढ़ अस्पताल में उपचाराधीन हैं। हस्पताल में तहसीलदार कुलदीप पूनियां तथा पुलिस थाना प्रभारी इंद्र कुमार के नेतृत्व में चिकित्सकों ने चारों मृतकों के शव मोर्चरी रुम में रखवाए। दोपहर बाद महेंद्रगढ़ से राकेश के परिवार के अन्य सदस्य संगरिया पहुंचे।उनके आने के बाद पुलिस ने शवों के पोस्टमार्टम करवाए पुलिस ने बताया कि संगरिया निवासी राकेश के चचेरे भाई रामचंद्र पुत्र प्रभाती लाल द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर मर्ग दर्ज की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार संगरिया में वार्ड आठ निवासी सुनीलकुमार पुत्र लक्ष्मण राम धानक ने बताया कि उनके ताऊ का बेटा गांव निंबी निवासी राकेश कुमार गांव का पूर्व सरपंच है। वह अपने परिवार सहित रिश्तेदारों से मिलने के लिए परसों संगरिया अपनी स्विफ्ट कार नंबर (एचआर 51 एडब्ल्यू 7928) पर पत्नी व बच्चों समेत आया था। उन्हें आज शाम वापिस जाना गांव था। सुबह नहर की आरडी 59 गोशाला हैड के पास स्थित त्रिदेव मंदिर, गोशाला व पार्क देखने के लिए गए थे।वापिस आते समय नाथवाना पुल से कुछ दूर पहले ही कार अचानक अनियंत्रित होकर नहर में पलट गई। जैसे ही कार गिरने की सूचना पहुंची उनके परिवार में कोहराम मच गया। परिवार की महिलाएं रोते हुए नहर पर पहुंची। लोगों ने बड़ी मुश्किलों से ढांढस बंधाते हुए घर भेजा। पूरे परिवार में से भाभी कमलेश व बड़ी बेटी कोमल जीवित बचे हैं बाकी पूरा परिवार हादसे में काल कलवित हो गया। पुलिस ने बताया कि कमलेश की हालत अभी स्थिर बनी हुई है जबकि कोमल खतरे से बाहर है। राकेश और उसके तीन बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिवार जन अंतिम संस्कार के लिए महेंद्रगढ़ ले गए हैं। पुलिस ने बताया कि पूरे हादसे की जांच की जा रही है अभी तक कोई संदेह जनक बात सामने नहीं आई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *