विश्वबैंक के सहयोग से चंबल के बीहड़ क्षेत्र को कृषि योग्य भूमि में बदलेगी केन्द्र सरकार: तोमर

नयी दिल्ली (एजेंसी)। केन्द्र सरकार की योजना विश्वबैंक के सहयोग से मध्य प्रदेश के ग्लावियर-चंबल क्षेत्र के बड़े बीहड़ इलाके को कृषि योग्य भूमि में बदलने की है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रविवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि इस बारे में शुरुआती रिपोर्ट एक महीने में तैयार हो जाएगी। उन्होंने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट तैयार होने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ बैठकें की जाएंगी और आगे की कार्रवाई तय की जाएगी। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि विश्वबैंक के प्रतिनिधि आदर्श कुमार के साथ वर्चुअल बैठक में यह फैसला किया गया। कुमार ने कहा कि विश्वबैंक मध्य प्रदेश में काम करने का इच्छुक है। तोमर ने इस आनलाइन बैठक में कहा, ”तीन लाख हेक्टेयर से अधिक उबड-खाबड़ जमीन खेती योग्य नहीं है। यदि इस क्षेत्र में सुधार किया जाता है, तो इससे ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के बीहड़ों के एकीकृत विकास में मदद मिलेगी। तोमर ने कहा कि इस परियोजना से सिर्फ कृषि विकास और पर्यावरण सुधार में ही मदद नहीं मिलेगी, बल्कि इससे रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे जिससे क्षेत्र का उल्लेखनीय विकास हो सकेगा। तोमर ने कहा कि ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के बीहड़ों में विकास की काफी गुंजाइश हैं। चंबल एक्सप्रेसवे का निर्माण होगा और यह इसी क्षेत्र से निकलेगा। इससे क्षेत्र का समग्र विकास करना संभव होगा। कृषि मंत्रालय में संयुक्त सचिव विवेक अग्रवाल ने कहा कि प्रस्तावित परियोजना पर काम शुरू करने से पहले प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचे, पूंजी लागत और निवेश जैसे सभी पहलुओं पर गौर किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *