चीन ने 5 प्रतिशत की स्थानीय शुरुआत के लिए हरी झंडी दी

 

बीजिंग। चीन ने अपनी सभी प्रमुख सरकारी दूरसंचार कंपनियों को 5जी सेवाएं शुरू करने की मंजूरी दे दी। चीन के उद्योग एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने चाइना टेलीकॉम, चाइना मोबाइल, चाइना यूनिकॉम और चाइना रेडियो एंड टेलीविजन को 5जी का व्यावसायिक लाइसेंस जारी कर दिया। इसका मतलब हुआ कि ये कंपनियां 5जी का व्यावसायिक परिचालन शुरू कर सकती हैं। इन कंपनियों को साल के अंत में परीक्षण करने का लाइसेंस दिया गया।चीन के अधिकारियों का कहना है कि नेटवर्क की विस्तृत शुरुआत से औद्योगिक विनिर्माण, इंटरनेट कनेक्टेड कार, हेल्थकेयर, स्मार्ट सिटी प्रबंधन और कृत्रिम मेधा के विकास में मदद मिलेगी।यह स्थिति पूरी दुनिया में देखी जा रही है। वहीं, दूसरी ओर भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ता बाजार है। भारत स्वयं भी यह बात मानता है। हालांकि, भारत में इसके साथ ही असमानता या विषमता भी बढ़ रही है। यदि कारखानों में काम करने वाली लड़कियों को आकर्षक रेशमी जुराब (स्टॉकिंग) उपलब्ध कराने की मंशा है, तो प्रतिस्पर्धा को केवल शक्तिशाली घरेलू उद्योग तक ही सीमित करना दरअसल उस कदम के ठीक विपरीत होगा जो वास्तव में उठाया जाना चाहिए। यह एक ऐसा सबक है जिसे हमने काफी मुश्किलें उठाने के बाद सीखा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *