क्लब फैक्टरी स्नैपडील से आगे निकला, एमेजॉन और फ्लिपकार्ट के बाद तीसरे पायदान पर

नई दिल्ली। अग्रणी ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्टरी ने गूगल प्ले शॉपिंग ऐप वर्ग में 1 रैंक बरकरार रखने के बाद जून, 2019 से भारत में स्नैपडील को पीछे छोड़ दिया है और डेटा एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म ऐप एनी के मुताबिक एमएयू के संदर्भ में यह तीसरा सबसे बड़ा शॉपिंग ऐप बन गया है। क्लब फैक्टरी की हाल की सफलता के लिए स्थानीय एसएमई पर ध्यान देने की रणनीति एक बड़ा कारण रही है और इसके बल पर इसने भारत में स्थानीय विक्रेताओं के लिए अग्रणी मार्केट प्लेस बनने और यूज़र्स को सर्वोत्तम मूल्य की पेशकश करने के लिए अपनी स्थिति और मजबूत की है। क्लब फैक्टरी के संस्थापक और सीईओ विन्सेंट लू के मुताबिक भारत में तेज वृद्धि और सफलता दर्ज करने के बाद अब हम भारत के भविष्य का ई-कॉमर्स बाजार बनने के लिए एफएसी युग (फ्लिपकार्ट, एमेजॉन, क्लब फैक्टरी) की संभावना तलाश रहे हैं। हमारा लक्ष्य एक निष्पक्ष बाजार स्थल की सुविधा देना है जहां विक्रेता और खरीदार दोनों ही लाभान्वित हों। हम हमारी 0 प्रतिशत कमीशन की रणनीति के साथ भारत में स्थानीय एसएमई को सशक्त कर रहे हैं और साथ ही अधिक उपभोक्ता मांग पूरी करने के लिए पारितंत्र में उल्लेखनीय निवेश कर रहे हैं। उत्पादों की त्वरित डिलीवरी के लिए बढ़ी हुई मांग पूरी करने के वास्ते हाल ही में मुंबई में हमारा नया वेयरहाउस खुला है। पिछले महीने, क्लब फैक्टरी ने वर्ष 2019 में 10,000 से अधिक विक्रेताओं को अपने साथ लेने की योजना के साथ अपनी नयी रणनीति की घोषणा की। इस घोषणा के दो महीने के भीतर क्लब फैक्टरी ने 5,000 से अधिक विक्रेताओं को सफलतापूर्वक अपने साथ शामिल कर लिया है। विन्सेंट लू ने कहा, वर्तमान में 70 प्रतिशत ऑर्डर भारत से एसएमई के जरिये पूरे किए जाते हैं जिसमें भारत में स्थानीय स्तर पर तैयार उत्पादों पर खास ध्यान होता है। स्थानीय बाजार स्थल की रणनीति अपनाने के बाद आर्डर की कुल मात्रा इस साल की शुरूआत से 100 प्रतिशत से अधिक बढ़ी है। क्लब फैक्टरी ने अखिल भारतीय स्तर पर विक्रेताओं के लिए अपना सेलर्स रिक्रुटमेंट प्रोग्राम शुरू किया है जिसमें लाइफस्टाइल, फैशन, एक्सेसरीज, गैजेट्स और इलेक्ट्रॉनिक्स और होम कैटगरी में उत्पादों की पेशकश की जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *