जयपुर ग्रेटर मेयर सौम्या गुर्जर के निर्वाचन को अब प्रतिद्वंदी रहीं कांग्रेस की दिव्या सिंह ने दी चुनौती

निर्वाचन को कोर्ट में चुनौती

जयपुर (कासं.)। जयपुर नगर निगम ग्रेटर की मेयर सौम्या गुर्जर के निर्वाचन को अब उनकी मेयर चुनाव में प्रतिद्वंदी रहीं कांग्रेस की दिव्या सिंह ने चुनौती दी है। उन्होंने डीजे कोर्ट फस्र्ट (जिला न्यायालय जयपुर महानगर प्रथम) में याचिका दायर करके मेयर का निर्वाचन रद्द करने की मांग की है। इस मामले पर अब अगली सुनवाई 15 दिसंबर को होगी। इससे पहले गुर्जर के सामने पार्षद का चुनाव लड़ी पिंकी यादव ने 2 दिसंबर को इसी कोर्ट में याचिका लगाकर उनका निर्वाचन निरस्त करने की मांग की थी।
दिव्या सिंह के अधिवक्ता एके जैन ने बताया कि याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में बताया कि सौम्या गुर्जर करौली जिले के देवरी पोस्ट खुंडा, तहसील मासलपुर की मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने से पहले साल 2011 में जयपुर में मतदाता थीं। लेकिन बाद में उन्होंने करौली में मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाया और साल 2015 में जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ी। इस बीच सौम्या ने जयपुर की मतदाता सूची से अपना नाम नहीं कटवाया।
जब वह वापस जयपुर में भाजपा के टिकट पर पार्षद का चुनाव लडऩे आई तो उन्होंने करौली में दर्ज मतदाता सूची से नाम कटवाने की एप्लीकेशन तो दी, लेकिन जयपुर की मतदाता सूची में नाम दर्ज नहीं करवाया।
सौम्या ने पुराने मतदाता क्रमांक के आधार पर ही नगर निगम पार्षद का चुनाव लड़ा। जबकि नियम के मुताबिक, करौली की मतदाता सूची में नाम दर्ज होने के साथ ही वह जयपुर की मतदाता नहीं रहीं। ऐसी स्थिति में वह पुराने मतदाता क्रमांक के आधार पर चुनाव कैसे लड़ सकती हैं?
दिव्या सिंह जयपुर नगर निगम ग्रेटर के वार्ड 93 से पार्षद का चुनाव जीतीं थी, जिसके बाद कांग्रेस ने उन्हें सौम्या गुर्जर के सामने मेयर का प्रत्याशी बनाकर उतारा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *