राजस्थान मे चुनी हुई सरकार को गिराने का पाप कर रही है भाजपा – जो कि मंसुबों में कामयाब नहीं होगी

 

Corona crisis persists in the state, grasshopper attacks
Corona crisis persists in the state, grasshopper attacks

 

गंगानगर (का.सं.)। प्रदेश मे कोरोना संकट कायम है टिड्डीयों का आक्रमण जारी हैं पूरे प्रदेश में बरसात नहीं हुई है पेयजल का संकट है, बिजली बि लों को माफ करने की मांग हो रही है। इसी बीच सरकार के जनप्रतिनिधियों की जिम्मेदारी बनती है कि जनता की मदद करे। लेकिन राज्यसभा चुनाव के समय से ही भाजपा राजस्थान की निर्वाचित सरकार को गिरानेका षडयंत्र रच रही है तथा दुर्भाग्य से कुछ विधायक पद की लालसा मे उनके जाल में फंसे हु है उन पर तुरन्त प्रभव से यथासम्भव कार्यवाही हो ताकि सरकार स्थिर हो सके और जनता के बिजली, पानी, स्वास्थ्य व विकास के कार्यों को आगे बढ़ाया जा सके। कर्नाटक, गोवा, मध्यप्रदेश में निर्वावित राज्य सरकारों को भाजपा द्वारा गिराया गया और वहां भाजपा की सरकारों का गठन करने का घृणित कुकृत्य किया गया। भाजपा की केन्द्र सरकार बड़े पुजीपतियों व बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के पक्ष में फैसले कर तेजी से निजिकरण को बढ़ावा देकर रोजगार खत्म कर रही है और बड़े पुंजीपतियों को फायदा पहुंचाकर उनको बेरोकटोक कार्यकरनेके लिए कभी जातीय, कभी साम्प्रदायिक, कभी राजनीतिक उठापाटक का षडयंत्र रच कर जनता को गुमराह कर रही है कोरोना काल में हवाई अड्डे बेचना व रेलवेकानिजीकरण सबसे बड़ा उदाहरण है।भाजपा आयकर विभाग, ईडी, सी.बी.आई. आदिका दुरूपयोग कर सरकारों को अपदस्थ करना आम बात हो गया है जो कि राजस्थान की 7 करोड जनता के साथ धोखाहै जो कि किसीभी सुरत में जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।सी.पी.आई. (एम) विधायक दल नेता बलवान पुनिया ने बताया कि केन्द्र की भाजपा सरकार सभी लोकतांत्रिक सवैधानिक मूल्यों और संवैधानिक संस्थाओं पर हमला करतेहुए देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए गंभीर खतरा पैदा कर दिया है। इसलिए राजस्थान में चुनी हुई सरकार को किसी भी सुरत में अपदस्थ नहीं करने देगे और राजस्थान की 7 करोड़ जनता को मध्यावधि चुनाव का दंश झेलने के मजबुर नहीं होने देगे और मांग करतेहै कि होर्स ट्रेडिग के जो ऑडियो वायरल हो रहे है उनकी एसओजी जांच कर सख्त कदम उठाये और बिना किसी प्रमाण के विधायकों के नाम घसीटने का जो जुर्म कर रहे है उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *