भारत में कोरोना से ठीक होने की दर 63.33 फीसदी, 1.94 फीसदी लोग ही आईसीयू में

नई दिल्ली, 17 जुलाई (एजेन्सी)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि भारत में कोविड-19 महामारी का इलाज करा रहे 3.42 लाख लोगों में से 1.94 फीसदी लोग ही आईसीयू में हैं, 0.35 प्रतिशत लोग वेंटिलेटर पर हैं जबकि 2.81 फीसदी लोगों को ऑक्सीजन दिया जा रहा है जबकि ठीक होने की दर 63.33 फीसदी तक पहुंच गई है। इसने कहा कि देश में कोविड-19 का वास्तविक आंकड़ा तीन लाख 42 हजार 756 है जबकि 6.35 लाख से अधिक लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। मंत्रालय ने कहा कि दुनिया की दूसरी सर्वाधिक आबादी वाले देश भारत में प्रति दस लाख में 727.4 मामले हैं जो कुछ यूरोपीय देशों की तुलना में चार से आठ गुना कम हैं। साथ ही देश में महामारी से मृत्यु दर प्रति दस लाख में 18.6 है जो दुनिया में सबसे कम दर में से एक है। मंत्रालय ने कहा, ”यह भी उल्लेखनीय है कि 1.94 फीसदी मरीज आईसीयू में हैं, 0.35 फीसदी मरीज वेंटिलेटर पर हैं और 2.81 फीसदी लोग ऑक्सीजन बिस्तर पर हैं। इसने कहा कि कुल मामलों में से 63.33 फीसदी लोग ठीक हो चुके हैं। बृहस्पतिवार को ठीक होने की दर 63.25 प्रतिशत थी। मंत्रालय ने कहा कि सभी राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों के समन्वित प्रयास, घर-घर सर्वेक्षण, संपर्क का पता लगाने, निरूद्ध एवं बफर जोन की निगरानी, लगातार जांच और समय पर उपचार के कारण ऐसा संभव हो सका है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि भारत ने कोविड-19 रोगियों के अलग-अलग श्रेणी के लिए देखभाल की मानक प्रोटोकॉल का अनुपालन किया है। प्रभावी क्लीनिकल प्रबंधन नीतियों का सकारात्मक परिणाम भी मिला है। मंत्रालय ने यह भी कहा कि एन95 मास्क और निजी सुरक्षा उपकरण की भी कोई कमी नहीं है। इसने बताया कि केंद्र ने राज्य, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को 235.58 लाख एन95 मास्क और 124.26 लाख पीपीई किट उपलब्ध कराए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में सर्वाधिक 34,956 मामले सामने आने के साथ शुक्रवार को कोविड-19 का आंकड़ा दस लाख से अधिक हो गया। महज तीन दिन पहले यह आंकड़ा नौ लाख के पार हुआ था। शुक्रवार की सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस के कुल मामले दस लाख तीन हजार 832 हो गए हैं जबकि मरने वालों की संख्या 25,602 हो गई है और एक दिन में मृतकों की सर्वाधिक संख्या 687 हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *