नक्सलियों ने अगवा सीआरपीएफ कोबरा कमांडो को रिहा किया

बीजापुर (एजेंसी)। छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले के दौरान नक्सलियों द्वारा कब्जे में लिए गए सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो को रिहा कर दिया गया है। वहीं, कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास की रिहाई पर उनकी पत्नी ने इस अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी का दिन बताया। इससे पहले नक्सलियों की तरफ से दो पेज का बयान जारी कर कहा गया था कि सीआरपीएफ का कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास उनके कब्जे में है। प्रतिबंधित कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (माओवादी) ने बयान जारी कर कहा कि 3 अप्रैल को हुए एनकाउंटर के बाद से लापता जवान उनके कब्जे में है। नक्सलियों ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बातचीत के लिए मध्यस्त की घोषणा के बाद ही सीआरपीएफ के कमांडो को छोड़ा जाएगा। बुधवार को ही नक्सलियों ने कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास की एक तस्वीर जारी की थी और बताया था कि वे कुशलपूर्वक हैं। तस्वीर में राकेश्वर सिंह मन्हास ताड़ के पत्तों से बनी झोपड़ी में बैठे हुए नजर आ रहे थे। सीआरपीएफ ने राकेश्वर सिंह मन्हास की तस्वीर की पुष्टि की थी। तस्वीर में राकेश्वर सिंह पूरी तरह से स्वस्थ दिख रहे थे। नक्सलियों ने बुधवार को दिन में तस्वीर जारी की थी। मंगलवार को जारी बयान में छत्तीसगढ़ में माओवादियों ने कहा है कि शनिवार को सुकमा और बीजापुर के सीमावर्ती क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद से लापता सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन का एक जवान उनके कब्जे में है और उन्होंने जवान की रिहाई के लिए सरकार से मध्यस्थ नियुक्त करने की मांग की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *