अब पेपर कार्टून्स में नहीं पैक होगा डाबर रेड पेस्ट, ईको-फ्रेंडली पैकेजिंग को देंगे बढ़ावा

नई दिल्ली। भारत की अग्रणी विज्ञान आधारित आयुर्वेद कंपनी डाबर इंडिया लिमिटेड ने अपने टूथपेस्ट ब्रांड डाबर रेड पेस्ट से पेपर कार्टन हटाने कीदिशामें कदम बढ़ायाहै। डाबर ने आज रिलायंस रिटेल के साथ मिलकर पेपर कार्टन से मुक्त डाबर रेड टूथपेस्ट केइस ईको-फ्रेंडली पैकेजिंग के पायलट पहल की घोषणा की।
बाहरी कार्टन हटाने से बचने वाले कागज का उपयोग नोटबुक बनाने में किया जाएगाऔरचाइल्ड राइट्स एंड यू के द्वारायह कॉपियां जरूरतमंद बच्चों कोमिलेंगी। डाबर इंडिया लिमिटेड के मार्केटिंग हेड (ओरल केयर) हरकवल सिंह ने कहा, इस प्रयास के साथ ही डाबर रेड पेस्ट ने एक यूनिक कैंपेन गिव अप द कार्टन, गिव मी अ फ्यूचर भी लॉन्च किया है। ष्टक्रङ्घ के साथ मिलकर कंपनी पेपर कार्टन हटाने के बाद जो भी कागज बचेगा, उसका उपयोग नोटबुक बनाने में करेगी, जो 1 लाख 20 हजार से ज्यादा जरूरतमंद बच्चों को बांटी जाएंगी। हमें उम्मीद है कि इस प्रयास के तहत हम सालभर में 150 टन कागज बचाने में सफल होंगे और पर्यावरण से कचरा दूर रख पाएंगे। इसके साथ ही, कंपनी एकबाहरी पेपर कार्टन मुक्त लोयूनिट प्राइस (एलयूपी)पैकभीपेशकररहीहैजो विशेशरूपसे ग्रामीण बाजारों के लिए बनाया गया है। डाबर इंडिया लिमिटेड के वाइस प्रेसीडेंट (मार्केटिंग-पर्सनल केयर) राजीव जॉन ने कहा, ‘बाजार में यह पहली बार है जब किसी टूथपेस्ट ब्रांड ने ऐसा कदम उठाया है। हमें यह बताते हुए अत्यंत खुशी हो रही है कि डाबर रेड पेस्ट अब नए ईको-फ्रेंडली डिजाइन में कार्टन फ्री पैक्स में उपलब्ध होगा। यह एक पायलट प्रोजेक्ट है, जो मॉर्डन ट्रेड आउटलेट में दिखाई देगा। इनदोनोप्रयासों से हम सालभर में 150 टन कागज बचाने में सफल होंगे। रिलायंस रिटेल के सीईओ-ग्रॉसरी दामोदर माल ने कहा, ‘हम डाबर के साथ मिलकर एक स्मार्ट तरीके से काम करते हुए पेपर के उपयोग को कम करने को लेकर बेहद उत्साहित हैं। सुपरमार्केट और सुपर ऐप के जरिए खरीदारी करने वाले ग्राहक जागरूक हैं और ऐसे पर्यावरण हितैषी प्रयासों को सहयोग देने के लिए तत्पर हैं। वे इस प्रयास का स्वागत करें। आज हमारे द्वारा किया जाने वाला छोटा सा प्रयास कल जाकर इंडस्ट्री में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाएगा।’चाइल्ड राइट्स एंड यू की रीजनल डायरेक्टर सोहा मोइत्रा ने कहा, “ष्टक्रङ्घ का हमेशा से यह मानना रहा है कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हर बच्चे का अधिकार है। यह बच्चों के भविष्य निर्माण के लिए बेहद जरूरी है। ष्टक्रङ्घ अपने प्रोजेक्ट एरिया के तहत आने वाले बच्चों को मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया करवाने को लेकर प्रतिबद्ध है। डाबर के द्वारा लिया गया फैसला वहुआयामी है। यह कैंपेन निश्चित रूप से हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए है, जो न सिर्फ उन्हें शिक्षा देगा बल्कि पर्यावरण को स्थिरता देगा।” भविष्य की पीढ़ी के लिए पर्यावरण को सुरक्षित बनाए रखने के उद्देश्य से डाबर अपने स्तर पर कई तरह के प्रयास कर रहा है। इनमें बायो विविधता को बढ़ावा देने के साथ-साथ उपभोक्ताओं द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला प्लास्टिक संग्रहित करके उसे रिसाइकल करने की प्रक्रिया में डालना, उत्पादों की पैकेजिंग में पेपर का उपयोग कम करने जैसे प्रयास शामिल हैं। यह प्रयास भी इसी दिशा में उठाया गया कदम है। कार्टन फ्री टूथपेस्ट पैक से बचने वाला कागज हर साल जरूरतमंद बच्चों को मिल पाएगा। इस कैंपेन के जरिए डाबर हर साल करीब 1.2 लाख बच्चों को नोटबुक मुहैया करवाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *